‘वो चीखती रही… दरिंदे जबरन शराब पिलाकर गैंगरेप करते रहे’, मुजफ्फरपुर में नाबालिग के साथ हैवानियत

मुजफ्फरपुर: बिहार में शराबबंदी है। अप्रैल 2016 से बिहार में शराब की बिक्री और उसका सेवन दंडनीय अपराध है। राज्य का प्रशासनिक तंत्र हाईटेक उपाय के साथ शराब की तस्करी और इसकी बिक्री रोकने में जुटा है। आसमान में ड्रोन। जमीन पर पुलिस और श्वान दस्ता। पानी में मोटरबोट। चप्पे-चप्पे पर पहरेदारी है। इस बीच मुजफ्फरपुर के अहियापुर थाना इलाके से एक ऐसी खबर आई है जो हुक्मरानों के कानों में पिघले शीशे की तरह अंदर जाएगी। वो ये जानकर हैरान हो जाएंगे कि मुजफ्फरपुर में नाबालिग को जबरन शराब पिलाकर उसके साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया है।वो चीखती रही…वो चीखती रही। छोड़ देने की गुहार लगाती रही। वो जबरन मुंह में बोतल डालकर हलक में शराब उड़ेलते रहे। गैंगरेप करते रहे। ये सच है। ऐसा ही हुआ है मुजफ्फरपुर के अहियापुर थाना क्षेत्र में। जहां नाबालिग को जबरन शराब पिलाकर उसके साथ गैंगरेप जैसी हैवानियत की गई है। घटना के बाद पूरे इलाके में तनाव की स्थिति है। दरिंदों ने नाबालिग को इतनी शराब पिला दी कि ढैचा के खेत में बेहोश पड़ी रही। होश में आने के बाद वो अपने घर पहुंची। उसने अपने दादा को पूरी घटना की जानकारी दी।मासूम के साथ दरिंदगीअपनी मासूम सी बच्ची का ये हाल देखकर दादा का कलेजा कांप उठा। परिजनों ने आनन-फानन में उसे एसकेएमसीएच भर्ती कराया। नाबालिग ने जानकारी दी है कि एक दरिंदा उसे बुलाने आया था। वो उसे लेकर खेत की तरफ पहुंचा। उसके साथ शराब की बोतल भी थी। दरिंदे ने उसे जबरन शराब पिलाई। उसके बाद अपने अन्य दोस्तों को बुला लिया। सभी ने मिलकर बारी-बारी से नाबालिग के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। वो नशे में छोड़ देने की गुहार लगाती रही। दरिंदों के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी।पुलिस ने शुरू की कार्रवाईघर से गायब अपनी बच्ची को घरवाले जब खोजने लगे, तो वो गुरुवार को खेत से सीधे घर पहुंची। उसने पूरी कहानी परिवार वालों को बताया। परिजनों ने आरोपी युवक के खिलाफ शिकायत लेकर उसके घर पहुंचे। जब बात नहीं बनी तो उन्होंने अहियापुर थाने में मामला दर्ज कराया। लड़की का मेडिकल कराया गया है। नगर डीएसपी राघव दयाल को आरोपियों को गिरफ्तार करने की जिम्मेदारी मिली है। उन्होंने मीडिया को बताया कि सभी आरोपियों की तलाश शुरू कर दी गई है। बहुत जल्द उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।