शाइस्ता परवीन की देवरानी नहीं बनने देगी बेगम को ‘डॉन’! अतीक-अशरफ के घर में दौलत को लेकर तकरार

शाइस्ता परवीन को अब तक हर कोई जान चुका है। उत्तर प्रदेश के माफिया अतीक अहमद की पत्नी जो अब खुद माफिया करार दी जा चुकी है, 83 दिन बाद भी पुलिस की पकड़ से दूर है, लेकिन अतीक के परिवार की एक महिला को शायद आप न जानते हों। ये है अतीक अहमद के भाई अशरफ की पत्नी जैनब फातिमा। शाइस्ता ने धूम-धाम से अपने देवर की शादी जैनब से करवाई थी। देवरानी-जेठानी की शादी की तस्वीरें भी काफी वायरल हुई हैं, लेकिन अब दोनों के बीच तकरार की बात सामने आ रही है और वजह है अतीक अहमद की अकूत दौलत। अतीक-अशरफ की पत्नियों के बीच कलहअतीक अहमद और उसके भाई अशरफ के बीच बेहद करीबी रिश्ते थे। अतीक ने ही अपने भाई अशरफ को राजनीति में एंट्री दिलवाई थी। अशरफ भी अपने भाई की बात पर आंख बंद करके भरोसा करता था। ये माफिया बर्दर्स जब तक जिंदा थे दोनों ने मिलकर काम किया, यहां तक की दोनों की मौत भी एक साथ ही हो गई। दोनों भाइयों की कब्र भी साथ-साथ ही खोदी गई, लेकिन अतीक-अशरफ का ये प्यार उनकी पत्नियों को कभी रास नहीं आया। शाइस्ता परवीन से नफरत करती थी जैनब फातिमाशाइस्ता परवीन घर की जेठानी थी, अतीक की पत्नी थी तो घर पर दबदबा भी उसका ही था। अतीक तो अतीक अशरफ भी भाभी की मर्जी के बिना कोई काम नहीं करता था। बस यही देवरानी जैनब फातिमा की चिंता का विषय था। जैनब की शादी के कुछ साल बाद ही दोनों देवरानी-जेठानी के रिश्ते खराब होने शुरू हो गए थे। दोनों एक दूसरे से काफी जलतीं थी। ये खुलासा किया है अतीक अहमद के वकील खान सौलत हनीफ ने। हनीफ पुलिस कस्टडी में है और वहीं से ये सारी बातें सामने आ रही हैं।शाइस्ता को मिली कार तो जैनब ने भी की मांगहनीफ ने बताया कि एक बार एक बिजनेसमैन से अतीक की पत्नी को वसूली के रूप में एक फॉर्चुनर कार मिली थी। ये बात जैनब को पता चल चुकी थी। इस बात से वो इतनी नाराज हुई कि बरेली जेल में अपने पति अशरफ के पास मिलने पहुंच गई। जैनब ने अशरफ से वैसी ही कार की मांग की और फिर उस बिजनैसमैन को फोन कर अशरफ ने अपनी पत्नी के लिए भी फॉर्चुनर मंगवाई। असद को मानती थी पति की मौत का जिम्मेदार अतीक और अशरफ के जिंदा रहते हुए भी जैनब प्रॉपर्टी के बंटवारे की मांग कर चुकी थी, लेकिन जब दोनों भाइयों की हत्या हो गई तब से जैनब ने और भी बुरा व्यवहार शुरू कर दिया था। अतीक के वकील ने सौलत हनीफ ने बताया कि वो असद को अपने पति की मौत का जिम्मेदार मानने लगी थी। जैनब ने यही कहा था कि अगर असद ने एनकाउंटर न किया होता तो आज अशरफ जिंदा होता। प्रॉपर्टी बंटवारे को लेकर भिड़ सकतीं हैं देवरानी-जेठानीमाना जा रहा है कि एक बार जैनब और शाइस्ता सामने आ गए तो दोनों खुलकर संपत्ति के बंटवारे को लेकर बात कर सकते हैं। अतीक और अशरफ के पास करोड़ों की दौलत है और अब उसकी मालकिन ये देवरानी-जेठानी ही हैं। शाइस्ता परवीन के चार बेटे हैं जबकि जैनब की दो बेटियां। ऐसे में बंटवारे के वक्त दोनों की कलह फिर से सामने आ सकती है। पुलिस चाहे शाइस्ता परवीन को माफिया मान ले, लेकिन खुद शाइस्ता के घर में ही उसके खिलाफ आवाज बुलंद हो सकती है।