MP : कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में शाह ने कांग्रेस की खिंचाई की

केन्द्रीय मंत्री अमित शाह ने आदिवासियों और दलितों के साथ किए गए व्यवहार को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि केवल और केवल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ही देश को सुरक्षा और समृद्धि प्रदान कर सकती है और गरीबों का कल्याण सुनिश्चित कर सकती है।
कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ के पांच दशकों तक गढ़ रहे छिंदवाड़ा में आमसभा को संबोधित करते हुए शाह ने इस साल के अंत में होने वाले मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव और 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के पक्ष में मतदान कर लोगों से राज्य और केंद्र में फिर से भाजपा की सरकार बनाने का आह्वान किया।
केन्द्रीय मंत्री ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि दिसंबर 2018 से मार्च 2020 के बीच मुख्यमंत्री रहते हुए वह ‘‘भ्रष्टाचार में लिप्त’’ रहे और उन्होंने राज्य के लोगों के लिए कुछ नहीं किया।
उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस की पिछली सरकारों ने आदिवासियों, गरीबों और अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों की परवाह नहीं की। केवल और केवल भाजपा ही देश की सुरक्षा, समृद्धि और गरीबों का कल्याण सुनिश्चित कर सकती है।’’
शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आदिवासियों के सम्मान की परवाह करते हैं, जिनकी कांग्रेस ने वर्षों उपेक्षा की। उन्होंने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का जिक्र करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के प्रयासों से आदिवासी समुदाय की एक महिला अब भारत की राष्ट्रपति है।
केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने महान आदिवासी नेता बिरसा मुंडा की जयंती 15 नवंबर को जनजाति गौरव दिवस के रूप में मनाने की घोषणा कर आदिवासी समुदाय का सम्मान किया।
उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस ने हमेशा दलितों की बात की लेकिन उनके लिए कुछ किया नहीं। प्रधानमंत्री मोदी ने 2014 में सत्ता में आने के बाद अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया और उनके सम्मान की नींव रखी। केवल भाजपा ने आदिवासियों और ओबीसी की सम्मान की परवाह की है।’’
शाह ने कहा कि 2014 में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि भाजपा का शासन गरीबों, दलितों, आदिवासियों और अन्य पिछड़ा वर्ग का है जबकि कांग्रेस जिसने ‘गरीबी हटाओ’ का नारा दिया था, उसने उनके लिए कुछ नहीं किया।
शाह ने केंद्र में 2014 में भाजपा नीत सरकार आने के बाद गरीब व आदिवासी समुदाय के हित में किए गए कार्यो का हवाला देते हुए दावा किया, ‘‘पिछले नौ साल में 60 करोड़ लोगों के बैंक खाते खोले गए, 13 करोड़ लोगों को गैस सिलेंडर मिले, 10 करोड़ लोगों को शौचालय तथा तीन करोड़ लोगों को अपना घर मिला और 60 करोड़ लोग ‘आयुष्मान भारत योजना’ के तहत पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा का लाभ उठा रहे हैं।’’
उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना वायरस से बचने के लिए देश के 130 करोड़ लोगों को मुफ्त में टीका लगवाया। मोदी जी ने सुनिश्चित किया कि गरीबों को उनके घर पर हर महीने पांच किलो राशन मुफ्त मिले।’’
केंद्रीय गृह मंत्री ने नाथ पर हमला बोलते हुए कहा कि कुछ नया अच्छा करने के बजाय कमलनाथ भ्रष्टाचार में लिप्त रहे और शिवराज सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को बंद कर दिया।
शाह ने आरोप लगाया कि एक बांध निर्माण कार्य में निर्धारित प्रक्रियाओं का पालन किए बिना कई करोड़ रुपये का अग्रिम भुगतान किया गया। इसमें कांग्रेस नेता के करीबी लोगों के नाम सामने आए।
शाह ने कहा कि कमलनाथ ने पिछले विधानसभा चुनाव में बेरोजगारों को भत्ता देने का वादा किया था लेकिन किसी को नहीं मिला।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने छिंदवाड़ा के लिए 34 हजार करोड़ रुपये का बजट प्रावधान किया है और इस क्षेत्र के लिए करोड़ों रुपये की केंद्रीय परियोजनाओं को मंजूरी देने की बात कही। छिंदवाड़ा क्षेत्र की करीब 35 से 40 फीसदी आबादी आदिवासी समुदाय से हैं।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नीत सरकार ने पांच अगस्त, 2019 को जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटा दिया जबकि कांग्रेस इस मुद्दे को सालों तक लटकाती रही।
मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पहली दफा छिंदवाड़ा से 1980 में लोकसभा के लिए चुने गए और 1997 में उपचुनाव में उनकी एकमात्र पराजय के साथ उन्होंने कई दफा इस लोकसभा सीट से विजय हासिल की।
लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा मध्य प्रदेश में 29 लोकसभा सीटों में से 28 सीटें जीतने में कामयाब रही लेकिन छिंदवाड़ा से नाथ के पुत्र नकुल नाथ 35 हजार से अधिक वोटों से विजयी रहे थे।
कांग्रेस ने 2018 के विधानसभा चुनावों के बाद कमलनाथ के नेतृत्व में मध्य प्रदेश में सरकार बनाई लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रति निष्ठावान विधायकों के विद्रोह के कारण मार्च 2020 में कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार गिर गई और शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी।
भाजपा सूत्रों ने कहा कि शाह की छिंदवाड़ा यात्रा 2019 के चुनावों में जीतने में विफल रही देश की 130 लोकसभा सीटों पर आगामी चुनावों में भाजपा की पकड़ मजबूत करने के उद्देश्य से जनसंपर्क कार्यक्रम का हिस्सा है।