आधी आबादी की सुरक्षा, स्वावलंबन और सम्मान सरकार की शीर्ष प्राथमिकता : योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में आधी आबादी की सुरक्षा, स्वावलंबन और सम्मान सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है।
योगी ने शनिवार को महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के बैनर तले आयोजित मुफ्त सिलाई मशीन वितरण समारोह को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘महिलाओं को सुरक्षित माहौल देकर उनके स्वावलंबन और सम्मान के लिए केंद्र व प्रदेश सरकार की ओर से अनेक योजनाओं का क्रियान्वयन किया गया है। इनके सकारात्मक परिणाम भी सामने आ रहे हैं।’’
यहां महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज के मैदान में हुए समारोह में 1150 महिलाओं और बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सिलाई मशीनों का वितरण किया गया और सभी को कंबल भी वितरित किये गये।
इस मौके पर अपने संबोधन में योगी ने कहा, ‘‘ महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए ही प्रधानमंत्री मोदी ने नारी वंदन अधिनियम पारित कराकर संसद और विधानसभा में 33 प्रतिशत महिला आरक्षण सुनिश्चित कराया है।’’
मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘आधी आबादी के सशक्तिकरण के बिना भारत को सशक्त और समर्थ नहीं बनाया जा सकता है। इसके लिए सुरक्षित माहौलदेकर महिलाओं के स्वावलंबन का मार्ग प्रशस्त करना होगा। सुरक्षा और स्वावलंबन से ही सम्मान का भाव प्रकट होगा। केंद्र व प्रदेश की सरकार इन तीनों पहलुओं पर पूरी प्रतिबद्धता से काम कर रही है।’’
मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘प्रशिक्षण देकर सिलाई मशीन उपलब्ध कराने का यह कार्यक्रम महिला सशक्तिकरण के लिए काफी महत्वपूर्ण है। यह महिला स्वावलंबन से जुड़ा एक अभिनव प्रयास है। प्रशिक्षण के बाद सिलाई मशीन पर काम शुरू कर ये महिलाएं गोरखपुर को रेडीमेड गारमेंट का हब बनाने में बड़ा योगदान दे सकती हैं। इसके लिए उन्हें समूहों और बाजार से जुड़ना होगा। बाजार से जुड़कर वे प्रतिदिन 500 से 1000 रुपये कमा सकती हैं।’’
कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो संजीवनी वैन (मोबाइल मेडिकल वैन) को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
मुख्यमंत्री ने बताया कि इसमें से एक मोबाइल मेडिकल वैन चंदौली और सोनभद्र के जनजातीय क्षेत्रों में जाएगी जबकि दूसरी गोरखपुर के वनटांगिया, मलिन बस्तियों, मुसहर, थारू बाहुल्य गांवों तथा भारत-नेपाल सीमा के सुदूर गांवों में जाकर चिकित्सा सुविधा प्रदान करेगी। इन मेडिकल मोबाइल वैन में अस्पतालों जैसी सभी सुविधाएं होंगी और इनमें चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी तैनाती रहेंगे। योगी आदित्यनाथ ने सभी लोगों को मकर संक्रांति (खिचड़ी) समेत आगामी पर्वों और 22 जनवरी को अयोध्या में श्रीरामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह की बधाई और शुभकामनाएं दीं।