आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए जेवर एयरपोर्ट के पास घर बनाने का मौका, आएगी 6 हजार से ज्‍यादा प्‍लॉट की स्‍कीम

प्रवेश सिंह, ग्रेटर नोएडा: आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) के लोगों को भी एयरपोर्ट के पास घर बनाने का मौका देगी। एयरपोर्ट के नजदीक आवासीय सेक्टर 18 और 20 में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए 30 मीटर के छह हजार से अधिक प्लॉटों की स्कीम भी लाएगी जाएगी। इन 30 मीटर प्लॉट पर ढाई मंजिल तक मकान बनाया जा सकेगा।यमुना अथॉरिटी इन दोनों सेक्टरों में 30 मीटर के 6500 प्लॉट पर स्कीम निकालेगा। इन भूखंडों की कीमत केवल साढ़े सात लाख रुपये होगी। भूखंड का क्षेत्रफल छोटा होने के कारण आवंटी को ढाई मंजिल तक घर बनाने की इजाजत दी जाएगी। मकान का नक्शा प्राधिकरण पास करेगा। मकानों के नक्शे एक तरह के ही होंगे, ताकि सेक्टर देखने में सुंदर लगे। स्कीम के तहत आवेदन करने वालों के लिए नियम बनेंगे। सिर्फ आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोग ही आवेदन कर सकेंगे। प्राधिकरण इन आवंटियों के लिए सेक्टर में 9 और 12 मीटर की सड़क बनाएगा, ताकि आने व जाने में किसी भी प्रकार की तकलीफ न हो। इन सेक्टरों में लोगों के लिए पार्क, स्कूल, अस्पताल, बैंक आदि सभी मूलभूत सुविधाएं भी विकसित की जाएगी।482 बड़े आवासीय प्लॉट भी होंगेसेक्टर-18 और 20 में 300 से लेकर चार हजार मीटर तक के 482 प्लॉटों की भी स्कीम निकाली जाएगी। इसके अलावा प्राधिकरण का 60, 90 और 120 मीटर प्लॉट की स्कीम निकालने का प्लान भी तैयार हो गया है। जून में आचार संहिता हटने के बाद सभी स्कीम को लॉन्च कर दिया जाएगा। यमुना अथॉरिटी के सीईओ अरुणवीर सिंह का कहना है कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को भी एयरपोर्ट के पास घर बनाने का मौका मिलेगा। 30 मीटर प्लॉट का प्रस्ताव प्राधिकरण बोर्ड में लेकर जाएगा। मंजूरी मिलने के बाद यह स्कीम लागू की जाएगी।