गोवा के गांव का ‘7 जनवरी’ वाला डरावना कनेक्शन! तब पिता ने मारे थे अपने 2 बच्चे और अब…

पणजी: नए साल के पहले महीने की 7 तारीख। इस तारीख को कोई कैसे भूल सकता है। ये वही तारीख है जब गोवा में एक निर्दयी मां ने होटल के कमरे में अपने 4 साल के बेटे की हत्या कर दी। बेटे की हत्या करने के बाद उसने उसके शव को बैग में डाला और कर्नाटक पहुंच गई। इससे पहले की वो शव को ठिकाने लगाती वो पुलिस के हत्थे चढ़ गई। गोवा में हुई इस वारदात से हर कोई हैरान है। हर किसी के मन में यही सवाल है कि एक मां इतनी निर्दयी कैसे हो सकती है। गोवा में हुए इस हत्याकांड के बाद एक साल पहले हुए दो बच्चों की हत्या की वारदात को ताजा कर दिया है। पिछले साल इसी तारीख को गोवा में एक पिता ने अपने दो बेटों की हत्या कर दी थी। आइए जानते हैं क्या हुआ था उस दिन…7 जनवरी 2023 को गोवा के कैंडोलिम गांव में दो बच्चों के शव घर से बरामद हुए थे। दोनों बच्चों की हत्या गला घोंटकर की गई थी। दोनों बच्चों की हत्या उनके पिता ने की थी। जॉय फर्नांडिज नाम के शख्स ने इस वारदात को अंजाम दिया था। मगर इस केस में हत्या को वारदात अंजाम देने के बाद आरोपी बाप ने भी पेड़ से फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली थी। यहां भी माता-पिता के बीच वैवाहिक कलह दो बच्चों की हत्या का कारण बना। अपने दोनों 8 साल और 1 साल के बेटों की हत्या करने वाला जॉय गोवा की टियाट्र अकादमी में काम करने के साथ काफी मशहूर था। उसने लगभग आठ साल पहले जिला पंचायत चुनाव भी लड़ा था।ऐसे हुआ था हत्याकांड का खुलासाजॉय और उसके दोनों बेटों को आखिरी बार 7 जनवरी को दोपहर ढाई बजे के आसपास देखा गया था। जॉय की पत्नी एक स्कूल में शिक्षिका थी। वो दोपहर 3 बजे कैंडोलिम चर्च में एक पड़ोसी के विवाह में शामिल होने के लिए चली गई थी। वह शाम करीब 5 बजे लौटी तो घर पर ताला लगा मिला। उसने सोचा कि उसका पति और बेटा कैंडोलिम चर्च के बगल में स्थित सेंट थेरेसा स्कूल में कैटेचिज़्म कक्षा के लिए गए होंगे। वह वहां गई लेकिन वो उसे नहीं मिले। फिर वह घर लौट आई और गैलरी में इंतजार करने लगी। अधिकांश पड़ोसी उस शाम शादी के रिसेप्शन के लिए गए थे। पेड़ से लटका हुआ था शवलगभग 9 बजे तक उसने उनका इंतजार किय। जब उसने उनका पता नहीं चला तो उसने पड़ोसियों को बुलाया। पड़ोंसियों ने रात 10 बजे के आसपास घर के पीछे का दरवाजा तोड़ा और अंदर दाखिल हुए। अंदर जाते ही सबके होश उड़ गए। कमरे के अंदर दोनों बच्चों की लाश पड़ी हुई थी और उनका पिता वहां नहीं था। पड़ोसियों ने उसकी तलाश की लेकिन वो कहीं नहीं मिला। अगल सुबह जॉय का शव घर के पीछे पेड़ से लटका हुआ मिला।