आंसू बहाती रहीं सानिया मिर्जा, फेयरवेल स्पीच में पति को किया इग्नोर, शोएब ने यूं किया रिएक्ट

मेलबर्न: भारत की स्टार खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने अपने जोड़ीदार हमवतन रोहन बोपन्ना के साथ ऑस्ट्रेलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट के मिक्स्ड डबल्स में उपविजेता रहकर अपने ग्रैंडस्लैम करियर का समापन किया। दिलचस्प बात यह रही कि इस दौरान उन्होंने अपने पति शोएब मलिक का जिक्र तक नहीं किया।इस दौरान सानिया ने कहा, ‘अपने ग्रैंडस्लैम करियर का अंत करने के लिए इससे बढ़िया स्थान कोई नहीं हो सकता। मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं अपने बेटे के सामने ग्रैंडस्लैम फाइनल खेलूंगी। इसलिए यह मेरे लिए खास है।’सानिया और बोपन्ना की गैर वरीयता प्राप्त जोड़ी को रॉड लेवर एरेना में खेले गए फाइनल में लुइसा स्टेफनी और राफेल माटोस की ब्राजीलियाई जोड़ी से 6-7, 2-6 से हार का सामना करना पड़ा। बीच में चर्चा थी कि पावर कपल ने एक-दूसरे को तलाक दे दिया है। सानिया के नाम न लेने के बावजूद शोएब मलिक ने अपनी बेगम के लिए एक ट्वीट किया और उन्हें प्रेरणास्त्रोत बताया। शोएब मलिक ने ट्वीट किया, ‘तुम खेलने वाली हर महिला के लिए एक उम्मीद हो। तुमने अपने करियर में जो कुछ भी हासिल किया है, उसके लिए तुम पर बहुत गर्व है। तुम कई लोगों के लिए प्रेरणास्त्रोत हो। ऐसी ही हमेशा मजबूत बनी रहो। बेहतरीन करियर के लिए बहुत-बहुत बधाई।’सानिया ने कहा, ‘मैंने 2005 में 18 साल की उम्र में यहां शुरुआत की थी और तब मैं सेरेना विलियम्स के खिलाफ खेली थी। मुझे यहां बार-बार आने और कुछ टूर्नामेंट में जीत दर्ज करने का सौभाग्य मिला।’ उनके बेटे इजहान और परिवार के अन्य सदस्यों की उपस्थिति ने इस मौके को खास बना दिया था। उन्होंने कहा, ‘अगर मैं रोती हूं तो यह खुशी के आंसू होंगे। मुझे अभी दो और टूर्नामेंट में हिस्सा लेना है। मेरे पेशेवर करियर की शुरुआत मेलबर्न से हुई थी।’ सानिया ने अपने करियर में छह ग्रैंडस्लैम खिताब जीते हैं, जिसमें तीन विमिंस डबल्स और इतने ही मिक्स्ड डबल्स खिताब शामिल हैं। सानिया ने महेश भूपति के साथ मिलकर 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन और 2012 में फ्रेंच ओपन का मिक्स्ड डबल्स खिताब जीता था।