बिहार में इस महीने से हजारों टीचरों की भर्ती और जॉइनिंग, केके पाठक ने दी शिक्षकों को गुड न्यूज

पटना: बिहार में एक बार फिर से टीचरों की बल्ले-बल्ले होने वाली है। अगर आप बीपीएससी शिक्षक भर्ती की तैयारी कर रहे हैं तो ये खबर आपके लिए ही है। इस साल यानी 2024 में बिहार में 2 और चरणों में शिक्षक बहाली का प्लान तैयार कर किया गया है। इन परीक्षाओं के जरिए बिहार में एक लाख से ज्यादा शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। इसलिए देर मत कीजिए और लग जाइए तैयारी में। सबसे पहले तीसरे चरण की परीक्षा और नियुक्ति होगी, जो इसी साल मार्च में होनी है। इस चरण में एक दो हजार नहीं बल्कि परीक्षा पास करने वाले 70 हजार शिक्षकों को जॉइनिंग लेटर मिलेगा। केके पाठक ने शिक्षक अभ्यर्थियों को दी गुड न्यूजबिहार में शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने इसका ऐलान किशनगंज में किया। वो शुक्रवार को किशनगंज के दौरे पर थे। उन्होंने जानकारी दी कि तीसरे फेज की टीचर बहाली मार्च में और चौथे फेज की शिक्षक बहाली इसी साल 2024 की अगस्त में होगी। केके पाठक ने खुद ही इसका ऐलान किया। जब वो शुक्रवार को किशनगंज के टीचर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट पहुंचे तो उन्होंने वहां ट्रेनिंग ले रहे शिक्षकों को ये जानकारी दी। वहीं शिक्षा विभाग भी तीसरे फेज की तैयारी में जुट गया है। फरवरी यानी इसी महीने में शिक्षक बहाली का विज्ञापन जारी हो जाएगा। इसके लिए मार्च 2024 में परीक्षा ली जाएगी। तीसरे चरण में इतने शिक्षकों को मिलेगी जॉइनिंगएक स्थानीय अखबार के मुताबिक शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार तीसरे चरण में करीब 70 हजार शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। बाकी बची खाली जगहों पर चौथे फेज में नियुक्ति कराई जाएगी। तीसरे फेज के लिए शिक्षा विभाग ने सभी 38 जिलों से सब्जेक्ट वाइज खाली पदों की लिस्ट मांगी है। इसके बाद जल्द ही सामान्य प्रशासन विभाग के जरिए BPSC यानी बिहार लोकसेवा आयोग को अधियाचना भेज दी जाएगी। BPSC के जरिए ही चौथे फेज में भी नियुक्ति होगी। नियोजित शिक्षकों को भी मिला फायदापहले से टीचर की नौकरी कर रहे नियोजित शिक्षकों के उन पोस्ट को भी परमानेंट किया जा रहा है, जिन्होंने बीपीएससी परीक्षा पास कर विद्यालयों में योगदान दे दिया है। ऐसे में नियोजित शिक्षकों के पदों को परमानेंट यानी स्थायी पद में बदलने के बाद इनको भी तीसरे फेज की खाली जगहों में जोड़ा जाएगा। क्योंकि नियोजित शिक्षकों के दूसरे स्कूलों में योगदान देने के बाद उनकी पुरानी जगह खाली हो चुकी है। माना जा रहा है कि ऐसे कुल 20 से 25 हजार टीचरों के खाली पद तीसरे फेज में शामिल हो जाएंगे। इतना ही नहीं, दूसरे चरण में करीब 15 हजार कैंडिडेट्स के पूरक रिजल्ट को जारी करना था, लेकिन इस पर रोक लगा दी गई। अब इन 15 हजार खाली जगहों को भी तीसरे चरण की बहाली मे शामिल कर लिया जाएगा।