रतन टाटा मौत के मुंह में पहुंच गए थे, फ्लाइट का इंजन हो गया था फेल, साथ बैठे शख्‍स ने सुनाई आपबीती!

नई दिल्‍ली: देश के सबसे जाने-माने उद्योगपतियों में से एक हैं। अरबपति कारोबारी को उनकी जानकारी, सूझबूझ और धर्मार्थ कामों के लिए जाना जाता है। देशभर में उनके करोड़ों प्रशंसक हैं। रतन टाटा उन सभी को प्रेरित करते हैं। इन दिनों उनसे जुड़ा एक किस्‍सा कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर काफी चर्चा में है। पॉडकास्ट ‘फिगरिंग आउट विद राज शमनी’ में बोलते हुए एयरसेल के संस्थापक सी शिवशंकरन ने टाटा संस के चेयरमैन एमेरिटस रतन टाटा के साथ अपने साथ हुए नियर डेथ एक्‍सपीरियंस के बारे में बताया। आधे घंटे में दुर्घटनाग्रस्‍त हो सकता था व‍िमान शिवशंकरन ने मुताबिक, वह रतन टाटा के साथ एयर इंडिया की फ्लाइट में थे। तभी अचानक विमान के एक इंजन में खराबी आ गई। शिवशंकरन ने पॉडकास्ट में कहा, ‘मैं और रतन टाटा सिंगापुर से सेशेल्स की फ्लाइट में थे। हमें पता चला कि विमान का एक इंजन खराब हो गया है। रतन टाटा के एक सेक्रेटरी ने कहा कि अगर दूसरा इंजन भी खराब हो जाता है तो विमान 30 मिनट के भीतर दुर्घटनाग्रस्त हो सकता है।’शिवशंकरन घबराए पर रतन टाटा बोले…एयरसेल के संस्थापक शिवशंकरन ने बताया कि जब उन्हें लगा कि मौत नजदीक है तो उन्होंने अपने बेटे को एक ईमेल भेजा। इसमें उन्होंने अपना जीमेल पासवर्ड शेयर किया। इसके उलट रतन टाटा ने संयम बनाए रखा और सलाह दी-‘पायलटों को अपना काम करने दें।’ यह ध्यान देने वाली बात है कि रतन टाटा के पास पायलट सर्टिफिकेट है। वह F-16 फाल्कन फाइटर जेट को उड़ाने वाले पहले भारतीय नागरिक हैं। रतन टाटा की पर्सनैलिटी पर बात करते हुए उन्होंने उनकी निस्वार्थ देशभक्ति की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि रतन टाटा एक सर्वगुण संपन्न व्यक्ति हैं। वह हमेशा उत्कृष्टता और राष्ट्र के कल्याण को प्राथमिकता देते हैं।