राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह : अंबानी परिवार, अमिताभ बच्चन राजकीय अतिथियों की सूची में

अरबपति उद्योगपति मुकेश अंबानी और उनका परिवार, बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन 22 जनवरी को होने वाले राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए आमंत्रित राजकीय अतिथियों की सूची में शामिल हैं।
समारोह के लिए आमंत्रित किये गए करीब 8,000 लोगों की लंबी सूची में, राजकीय अतिथियों की सूची में प्रमुख राजनीतिक नेता, बड़े उद्योगपति, शीर्ष फिल्म अभिनेता, खिलाड़ी, नौकरशाह और राजनयिक शामिल हैं।
पीटीआई-के पास उपलब्ध सूची के अनुसार, समारोह में शामिल होने के लिए बच्चन एक निजी विमान से अयोध्या आएंगे।
फिल्म जगत से सूची में शामिल लोगों में अभिनेता अजय देवगन, अक्षय कुमार, अल्लू अर्जुन, मोहनलाल, अनुपम खेर और चिरंजीवी हैं। इनके अलावा, सरोद वादक अमजद अली, गीतकार मनोज मुंतशीर और उनकी पत्नी, गीतकार एवं लेखक प्रसून जोशी, निर्देशक संजय भंसाली और चंद्रप्रकाश द्विवेदी को भी आमंत्रित किया गया है।
सूची में उद्योगपति मुकेश अंबानी, उनकी मां कोकिलाबेन, पत्नी नीता, बेटे आकाश और अनंत, पुत्रवधू श्लोका तथा होने वाली पुत्रवधू राधिका मर्चेंट के भी नाम हैं।
आमंत्रित किये गए अन्य प्रमुख उद्योगपतियों में आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला और उनकी पत्नी नीरजा, पीरामल समूह के अध्यक्ष अजय पीरामल, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के आनंद महिन्द्रा और डीसीएम श्रीराम के अजय श्रीराम तथा टीसीएस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के. कीर्तिवासन शामिल हैं।
डॉ रेड्डीज फार्मास्यूटिकल्स के के. सतीश रेड्डी, जी इंटरटेनमेंट इंटरप्राइजेज के सीईओ पुनीत गोयनका, लार्सन एंड टूब्रो के सीईओ एस एन सुब्रमण्यन और उनकी पत्नी, इंफोसिस के संस्थापक एन आर नारायणमूर्ति, जिंदल स्टील एंड पावर के प्रमुख नवीन जिंदल और मेदांता समूह के नरेश त्रेहन भी सूची में शामिल हैं।
लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष मीरा कुमार और योजना आयोग (अब भंग किये जा चुके) के पूर्व उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया के नाम भी सूची में हैं।
भारत के जी20 शेरपा अमिताभ कांत, पूर्व राजनयिक अमर सिन्हा, पूर्व अटार्नी जनरल के.के. वेणुगोपाल और मुकुल रोहतगी तथा भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज को भी सूची में जगह मिली है।
सूची में शामिल कुछ लोग 22 जनवरी को निजी विमानों से यहां पहुंचने वाले हैं, जबकि अन्य लोग नियमित उड़ानों से एक दिन पहले पहुंचेंगे और अयोध्या या लखनऊ जैसे आसपास के शहरों में ठहरेंगे।