Ram Mandir प्राण प्रतिष्ठा से पहले PM Modi ने रामेश्वरम में लगाई आस्था की डुबकी, मंदिरों में किया दर्शन

अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में जाने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 जनवरी को तमिलनाडु के दौरे पर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तमिलनाडु के रामेश्वर में एक रोड शो किया है। इस रोड शो के दौरान बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत किया और उन पर फूल बरसाए। जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोपहर दो बजे रामेश्वरम पहुंचे। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्री अरुल्मिगु रामनाथस्वामी मंदिर पूजा अर्चना की। इसके बाद वो धनुषकोडी के कोठंडारामस्वामी मंदिर में दर्शन करने पहुंचेंगे। धनुषकोडी के पास ही पीएम मोदी अरिचल मुनाई भी जाएंगे। हिंदू पुराणों की मानें तो इसी जगह से प्रभु श्रीराम की सेना ने राम सेतु का निर्माण शुरू किया था। रामेश्वरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आस्था की डुबकी भी लगाई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तमिलनाडु के रामेश्वरम में श्री अरुलमिगु रामनाथस्वामी मंदिर में पूजा-अर्चना की। प्रधानमंत्री ने यहां समुद्र में पवित्र डुबकी भी लगाई।
#WATCH | Prime Minister Narendra Modi offers prayers at Sri Arulmigu Ramanathaswamy Temple in Rameswaram, Tamil Nadu. The Prime Minister also took a holy dip into the sea here. pic.twitter.com/v7BCSxdnSk— ANI (@ANI) January 20, 2024
  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामेश्वरम के श्री अरुलमिगु रामनाथस्वामी मंदिर में ‘श्री रामायण पारायण’ कार्यक्रम में भाग लिया। कार्यक्रम में, आठ अलग-अलग पारंपरिक मंडलियां संस्कृत, अवधी, कश्मीरी, गुरुमुखी, असमिया, बंगाली, मैथिली और गुजराती रामकथाओं (श्री राम की अयोध्या वापसी के प्रसंग का वर्णन) का पाठ भी सुना। प्रधानमंत्री ने इस मंदिर में कम्बा रामायणम के श्लोकों का पाठ करने वाले विभिन्न विद्वानों को भी सुना। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामेश्वरम के श्री अरुलमिगु रामनाथस्वामी मंदिर में पूजा-अर्चना की।  श्री अरुलमिगु रामनाथस्वामी मंदिर में प्रधानमंत्री भजन संध्या में भी भाग लेंगे, जहां शाम को मंदिर परिसर में कई भक्ति गीत गाए जाएंगे। इस मंदिर में पूजे जाने वाले मुख्य देवता श्री रामनाथस्वामी हैं, जो भगवान शिव का एक रूप हैं। यह व्यापक मान्यता है कि इस मंदिर में मुख्य लिंगम की स्थापना और पूजा श्री राम और माता सीता ने की थी। यह चार धामों में से एक है – बद्रीनाथ, द्वारका, पुरी और रामेश्वरम। यह भी 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 20 और 21 जनवरी को तिरुचिरापल्ली के प्रसिद्ध श्री रंगनाथस्वामी मंदिर सहित तमिलनाडु के अन्य महत्वपूर्ण मंदिरों का दौरा कर रहे है।  अरिचल मुनाई भी जाएंगे पीएम मोदीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस दौरे के संबंध में पीएमओ ने कहा कि धनुषकोडी के पास प्रधानमंत्री अरिचल मुनाई भी जाएंगे, जिसे वह स्थान कहा जाता है जहां से राम सेतु का निर्माण किया गया था। राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले पिछले कुछ दिनों से प्रधानमंत्री लगातार मंदिरों में जा रहे हैं। पिछले दिनों उन्होंने आंध्र प्रदेश के लेपाक्षी स्थित वीरभद्र और केरल के गुरुवायूर में विश्वविख्यात भगवान कृष्ण मंदिर में पूजा अर्चना की थी। इससे पहले, उन्होंने नासिक के भी एक मंदिर का दौरा किया था। इस दौरान उन्होंने विभिन्न भाषाओं जैसे मराठी, मलयालम और तेलुगु में रामायण मंत्रोच्चार में भाग लिया। पीएमओ ने कहा कि अरुलमिगु रामनाथस्वामी मंदिर में वह एक ‘श्री रामायण पर्याण’ कार्यक्रम में भाग लेंगे।