राजस्थान सरकार को तनाव के शिकार छात्रों की मदद करनी चाहिए: राज्यवर्धन राठौड़

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने मंगलवार को कहा कि राजस्थान की कांग्रेस-नीत सरकार को ‘कोचिंग संस्थानों पर पाबंदी लगाने’ के बजाय बेरोजगार युवाओं और तनाव के शिकार छात्रों के हित में निर्णय लेना चाहिए।
राठौड़ ने कहा कि अगर राज्य सरकार युवाओं के लिए बेहतर व्यवस्था नहीं कर सकती तो कम से कम इस मुद्दे पर असंवेदनशील बयान नहीं देना चाहिए।
इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश : ‘आप’ नेता केजरीवाल और मान 20 अगस्त को रीवा में रैली को संबोधित करेंगे कोटा में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे दो छात्रों ने रविवार को कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। अधिकारियों के अनुसार, इस साल 22 छात्रों ने आत्महत्या की है। यह किसी भी साल की सबसे बड़ी संख्या है। पिछले साल 15 छात्रों ने आत्महत्या की थी।
लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग (पीएचईडी) मंत्री महेश जोशी ने सोमवार को कहा था कि देश में कोचिंग संस्थानों पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए।