जल जीवन मिशन योजना में अनियमितताओं के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी: राजस्थान के मंत्री

राजस्थान के जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री कन्हैया लाल ने बुधवार को विधानसभा में कहा कि राज्य में जल जीवन मिशन योजना में अनियमितताओं के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
मंत्री ने प्रश्नकाल के दौरान इस योजना के कार्यान्वयन को लेकर पिछली कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार के समय जल जीवन मिशन जैसी महत्वाकांक्षी योजना में बड़े स्तर पर अनियमितताएं और भ्रष्टाचार के मामले सामने आए हैं जिसके चलते उसके क्रियान्वयन में राजस्थान देश में अंतिम पायदान पर है।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार योजना में हुई अनियमितताओं की जांच कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करेगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पिछले 20 दिनों से इसकी समीक्षा की जा रही है।
जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री प्रश्नकाल के दौरान इस संबंध में सदस्य द्वारा पूछे गए पूरक प्रश्नों का उत्तर दे रहे थे। उन्होंने कहा कि मामले में भ्रष्टाचार में लिप्त संवेदकों को काली सूची में डालकर उनसे भरपाई वसूली शुरू की जाएगी।
वहीं, सदन में अन्य विधायी कार्यों के अलावा राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर आगे बहस हुई। इसमें सत्ता एवं विपक्ष के साथ साथ कई निर्दलीय विधायकों ने अपनी बात रखी। इस दौरान कांग्रेस विधायक जुबैर खान द्वारा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को लेकर की गई एक टिप्पणी पर सदन में काफी देर हंगामा हुआ।
सदन की कार्यवाही अब 29 जनवरी को होगी। 25 से 28 जनवरी तक विधानसभा की बैठक नहीं होगी।
राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर सरकार की ओर से 30 जनवरी को जवाब दिया जाएगा। वहीं 31 जनवरी से सात फरवरी तक सदन की बैठक नहीं होगी। आठ फरवरी को आय व्ययक अनुमान 2024-25 सदन में पेश किया जाएगा। इसके साथ लेखानुदान संबंधी विवरण भी सदन में रखा जाएगा।