बच गई राजस्थान CM की कुर्सी? देर रात दो घंटे तक चली गहलोत, पायलट और राहुल की मीटिंग

भरतपुर : राजस्थान में राहुल गांधी का भारत जोड़ो यात्रा अब अपने अंतिम पड़ाव में हैं। अलवर के बाद यह यात्रा अब जल्द ही हरियाणा राज्य में प्रवेश करेगी। यात्रा के हरियाणा पहुंचने से पहले सोमवार को कांग्रेस पार्टी की ओर से राजस्थान के मुद्दे पर हल निकालने की कोशिश की गई। सूत्रों के अनुसार राजस्थान कांग्रेस में चल रही सियासी अदावत के बीच अब पार्टी ने इसके समाधान को लेकर कवायद शुरू कर दी है। आज अलवर के मालाखेड़ा में जनसभा को संबोधित करने के बाद राहुल गांधी ने देर शाम राजस्थान सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट के साथ भरतपुर सर्किट हाउस में मीटिंग की। इस दौरान प्रदेश के मुद्दों के साथ राजस्थान की राजनीतिक समीकरण पर भी चर्चा की गई। बैठक के बाद राहुल गांधी ने मीडिया से बात की है। राहुल गांधी ने बाहर आकर मीडिया से कहा सब ठीक है।

राहुल से गहलोत पायलट की मीटिंग ने बढ़ाई सियासी सुगबुगाहट

भरतपुर सर्किट हाउस में राहुल गांधी के साथ गहलोत पायलट की मींटिंग ने राजस्थान की सियासी सुगबुगाहट को तेज कर दिया है। बैठक के बाद राहुल गांधी ने तो अभी मीडिया से बात की है, लेकिन अशोक गहलोत और सचिन पायलट की ओर से इसे लेकर कोई बयान सामने नहीं आया है। सूत्रों के मुताबिक इस मीटिंग में दोनों नेताओं को एकजुट होकर पार्टी को मजबूत करने के लिए कहा है। साथ ही राजस्थान में कांग्रेस की सरकार कैसे रिपीट हो सकती है। इस मसले पर भी चर्चा हुई है।

इशारों- इशारों में खरगे ने भी दिया यही मैसेज

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद राजस्थान में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे मल्लिकार्जुन खरगे ने इससे पहले गहलोत पायलट को एकजुट होने की हिदायत दी। अलवर के मालाखेड़ा में 19 दिसंबर को हुई जनसभा में बीजेपी पर बरसने के दौरान खरगे ने कांग्रेस के नेताओं से कहा कि अध्यक्ष होने के नाते मैं कह रहा हूं कि एक होकर काम करेंगे तो कोई आपको हरा नहीं पाएगा। पार्टी के नेता इसे मजबूत रखें। यहां सभा में खरगे ने राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट को इशारों- इशारों में एक रहने की सलाह दे डाली।