राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द, भाजपा-कांग्रेस के बीच वार-पलटवार, विपक्षी एकता भी दिखी, आगे को लेकर मंथन जारी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। गुरुवार को सूरत के एक अदालत ने मानहानि मामले में उन्हें 2 साल की सजा सुनाई थी। हालांकि, मामले की सुनवाई के दौरान ही कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी थी। लेकिन इस मामले को लेकर राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द कर दी गई है। आज लोकसभा सचिवालय ने इसको लेकर नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया। आपको बता दें कि जनप्रतिनिधित्व अधिनियम के अनुसार, किसी भी सदस्य को दोषी ठहराए जाने और दो साल या उससे अधिक के कारावास की सजा होने पर अयोग्य घोषित किया जाता है। व्यक्ति कारावास की अवधि और एक और छह साल के लिए अयोग्य होता है।  इसे भी पढ़ें: West Bengal: कोलकाता में ममता बनर्जी और कुमारस्वामी की हुई मुलाकात, राहुल को लेकर JDS नेता ने कही यह बातराहुल का ट्वीट, प्रियंका का वारराहुल गांधी ने लोकसभा की सदस्यता जाने के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि मैं भारत की आवाज के लिए लड़ रहा हूं। मैं हर कीमत चुकाने को तैयार हूं। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला करते हुए राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी ने भारत के लोकतंत्र को ”खत्म करने” की कोशिश करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी, आपके चमचों ने एक शहीद प्रधानमंत्री के बेटे को देशद्रोही और मीर जाफर कहा। आपके एक मुख्यमंत्री ने सवाल उठाया कि राहुल गांधी के पिता कौन हैं। कश्मीरी पंडितों के रिवाज निभाते हुए एक बेटा पिता की मृत्यु के बाद पगड़ी पहनता है, अपने परिवार की परंपरा क़ायम रखता है।कांग्रेस नेता ने कहा कि भरी संसद में आपने पूरे परिवार और कश्मीरी पंडित समाज का अपमान करते हुए पूछा कि वह नेहरू नाम क्यों नहीं रखते…. लेकिन आपको किसी जज ने दो साल की सज़ा नहीं दी। आपको संसद से डिस्क्वालिफाई नहीं किया….राहुल जी ने एक सच्चे देशभक्त की तरह अडानी की लूट पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि नीरव मोदी और मेहूल चौकसी पे सवाल उठाया…। क्या आपका मित्र गौतम अडानी देश की संसद और भारत की महान जनता से बड़ा हो गया है कि उसकी लूट पर सवाल उठा तो आप बौखला गए? आप मेरे परिवार को परिवारवादी कहते हैं, जान लीजिए, इस परिवार ने भारत के लोकतंत्र को अपने खून से सींचा जिसे आप ख़त्म करने में लगे हैं। इस परिवार ने भारत की जनता की आवाज़ बुलंद की और पुश्तों से सच्चाई की लड़ाई लड़ी। हमारी रगों में जो खून दौड़ता है उसकी एक ख़ासियत है… आप जैसे कायर, सत्तालोभी तानाशाह के सामने कभी नहीं झुका और कभी नहीं झुकेगा। आप कुछ भी कर लीजिए।कांग्रेस का प्रहारसांसद के रूप में राहुल गांधी की अयोग्यता पर कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा उन्हें अयोग्य ठहराने के सभी तरीके आजमाए। जो सच बोल रहे हैं उन्हें वो रखना नहीं चाहते लेकिन हम सच बोलते रहेंगे। हम जेपीसी की मांग जारी रखेंगे, जरूरत पड़ी तो लोकतंत्र बचाने के लिए जेल जाएंगे। कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि हम सभी जानते हैं कि राहुल गांधी संसद के अंदर और बाहर दोनों जगह निडर होकर बोलते रहे हैं। उन्होंने सामाजिक मुद्दों, आर्थिक मुद्दों, राजनीतिक मुद्दों पर बिना किसी डर के बात की है और स्पष्ट रूप से वह इसके लिए कीमत चुका रहे हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की आवाज को दबाना आसान नहीं है। हमें पूरा विश्वास है कि ऐसी चीज जो कानून में गलत है उसका सही रूप से अवलोकन किया जाएगा और हमें कनविक्शन स्टे जल्द से जल्द मिलेगा। कांग्रेस सांसद जयराम रमेश ने कहा कि ये राजनीतिक लड़ाई बरकरार रहेगी। हम पीछे नहीं हटेंगे। राहुल गांधी कोई धमकी से डरने वाले नहीं हैं…प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डरे हुए हैं इसलिए वो बार-बार राहुल गांधी और अन्य विपक्ष के नेताओं को डराते रहते हैं और धमकियां देते रहते हैं। राजस्थान CM अशोक गहलोत ने कहा कि देश में हालात बहुत गंभीर है अगर देशवासी नहीं समझे तो सबको भुगतना पड़ेगा। कांग्रेस पार्टी या राहुल गांधी घबराने वाले नहीं है। वे सत्य को ईश्वर मानते हैं। एक महीने का जब स्टे कर दिया गया था तो क्या ये इंतजार नहीं कर सकते थे, इतनी क्या जल्दी थी। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि मैं इस फैसले और जिस जल्दबाजी से इसे किया गया उससे स्तब्ध हूं। जब एक अपील प्रक्रिया में है तो इस अयोग्यता को लागू करने के तर्क को मैं नहीं समझ पाया। यह भारतीय लोकतंत्र की स्थिति के बारे में दुनिया को एक बहुत ही खराब संकेत भेज रहा है। भाजपा का पलटवारकेंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि क्या एक पूरे समाज को चोर बोल सकते हैं? क्या कांग्रेस जैसी पार्टी के लिए छोटे समाज और OBC समाज का अपमान करना और माफी भी न मांगना ही अभिव्यक्ति की आज़ादी है। गाली देने में और आलोचना करने में अंतर है। वे(राहुल गांधी) OBC समाज को गाली देने का काम कर रहे थे जिसकी वजह से उन्हें सजा हुई। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जो जैसे करता है उसको वैसा परिणाम भोगना पड़ता है, राहुल गांधी ने जो किया उसका परिणाम अब उन्हें भोगना है। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और एक विशेष परिवार चाहता है कि उनके लिए अलग IPC बने, उन्हें सज़ा न हो लेकिन मैं उन्हें याद दिला दूं देश 75 साल से प्रजातंत्र अपना चुका है। आप पिछड़े समाज को गाली देंगे, अपशब्द का इस्तेमाल करेंगे ये सामंती मानसिकता का परिचायक है। हम समूह से अलग हैं क्योंकि हम एक परिवार से आते हैं। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि राहुल गांधी का पहले से ही असंसदीय आचरण रहा है, अहंकार इनका दिखता रहा है। क्या एक भी सही राय देने वाला कांग्रेस में नहीं बचा या जानबूझकर गलत सलाह दी गई। राहुल गांधी ने पहले ही अपने पार्टी का अध्यादेश फाड़ दिया था आज उन्हीं की पार्टी में से किसी ने खेल कर दिया इन्हें पता नहीं चला। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी 7 जगह जमानत पर हैं, बार-बार झूठ बोलने, अवमानना के लिए इन्हें बेल दी गई। वे एक आदतन अपराधी हैं, इन्हें ऐसा लगता था कि देश का कानून या कोई व्यक्ति कुछ कर नहीं सकता। इनके पास माफी मांगने के लिए 3 साल लेकिन इन्होंने माफी नहीं मांगी। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि यह कोर्ट का अपमान है, कोर्ट ने राहुल गांधी को माफी मांगने के लिए मोहलत दी लेकिन उन्होंने अहंकार में माफी नहीं मांगी। आज वे अपने ही किए हुए का फल भुगत रहे हैं। सदन में इन्होंने जो बिल फाड़ा था वो यही बिल था। दिखी विपक्षी एकताराहुल मामले को लेकर विपक्षी एकता भी साफ तौर पर देखने को मिली। ममता बनर्जी, अरविंद केजरीवाल जैसे नेता आज राहुल के समर्थन में खड़े दिखे। राहुल गांधी की लोकसभा से अयोग्यता पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि देश की जनता को आगे आकर इसका मुकाबला करना होगा, अगर देश को बचाना है तो 130 करोड़ लोगों को आगे आना होगा। इससे फर्क नहीं पड़ता कि कौन सी पार्टी सत्ता में आती है लेकिन जिस तरह से जनतंत्र पर हमला हो रहा है वो सही नहीं है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि पीएम मोदी के न्यू इंडिया में बीजेपी के निशाने पर विपक्षी नेता! जबकि आपराधिक पृष्ठभूमि वाले भाजपा नेताओं को मंत्रिमंडल में शामिल किया जाता है, विपक्षी नेताओं को उनके भाषणों के लिए अयोग्य ठहराया जाता है। आज, हमने अपने संवैधानिक लोकतंत्र के लिए एक नया निम्न स्तर देखा है।  इसे भी पढ़ें: Rahul Gandhi: केजरीवाल बोले- राहुल का निष्कासन चौंकाने वाला, देश को बर्बाद करने की कोशिश की जा रहीमहाराष्ट्र के पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि राहुल गांधी की उम्मीदवारी रद्द कर दी गई है। चोर कहना हमारे देश में एक अपराध हो गया है। चोर और लुटेरे अभी भी आज़ाद हैं और राहुल गांधी को सजा मिल गई। यह लोकतंत्र की सीधी हत्या है। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि सभी सरकारी तंत्र दबाव में हैं। यह तानाशाही के अंत की शुरुआत है। लड़ाई को ही दिशा देनी है। बिहार के मंत्री तेज प्रताप यादव ने कहा कि यह साजिश के तहत किया गया है। बिहार और पूरा देश देख रहा है कि वे (भाजपा) क्या कर रहे हैं। सब कुछ उनके (बीजेपी) के आदेश पर हो रहा है।  कांग्रेस का मंथनकांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को लोकसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराए जाने के बाद आगे की रणनीति तय करने के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक शुक्रवार को हुई। पार्टी मुख्यालय में हो रही इस बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा और कांग्रेस के कई अन्य वरिष्ठ नेता शामिल हैं