‘कांग्रेस की कठपुतली’ बनाम ‘सरकार की गोद’, ट्विटर पर क्यों छिड़ी बबीता फोगाट और साक्षी मलिक में जंग

नई दिल्ली: पुलिस ने भारतीय कुश्ती महासंघ के पूर्व अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह के खिलाफ चार्जशीट भी दायर कर दी है। लेकिन हर दिन इससे जुड़ी कोई न कोई खबर या दावे सामने आ रहे हैं। इस बीच ट्विटर पर धरने में शामिल पहलवान साक्षी मलिक (Sakshi Malik) और पहलवान से बीजेपी की नेता बनीं बबीता फोगाट (Babita Phogat) में जंग शुरू हो गया है। साक्षी ने शनिवार को एक वीडियो शेयर किया था। इसमें उन्होंने कहा कि धरने के लिए परमिशन बबीता फोगाट और बीजेपी नेता तीर्थ राणा ने लिए थे। इस वीडियो में साक्षी के साथ उनके पति सत्यव्रत कादियान भी थे।बबीता ने किया पलटवारसाक्षी मलिक और उनके पति के वीडियो पर बबीता फोगाट ने पलटवार किया है। बबीता ने ट्विटर पर लंबा-चौड़ा पोस्ट किया। बबीता ने लिखा- मुझे कल बड़ा दुःख भी हुआ और हंसी भी आई जब मैं अपनी छोटी बहन और उनके पतिदेव का वीडियो देख रही थी, सबसे पहले तो मैं ये स्पष्ट कर दूँ की जो अनुमति का कागज छोटी बहन दिखा रही थी उस पर कहीं भी मेरे हस्ताक्षर या मेरी सहमती का कोई प्रमाण नहीं है और ना ही दूर-दूर तक इससे मेरा कोई लेना देना है।’ बबीता फोगाट ने ताना मारते हुए ट्वीट में लिखा, ‘बहन हो सकता है आप बादाम के आटे की रोटी खाते हों लेकिन गेहूं की तो मैं ओर मेरे देश की जनता भी खाती ही है, सब समझते हैं। देश की जनता समझ चुकी है कि आप कांग्रेस के हाथ की कठपुतली बन चुकी हो। अब समय आ गया है कि आपको आपकी वास्तविक मंशा बता देनी चाहिए क्योंकि अब जनता आपसे सवाल पूछ रही है।’ साक्षी मलिक का आया जवाबअब साक्षी मलिक का भी जवाब आया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा- वीडियो में हमने तीरथ राणा और बबीता फोगाट पर तंज कसा था कि कैसे वे अपने स्वार्थ के लिए पहलवानों को इस्तेमाल करना चाह रहे थे और कैसे पहलवानों पर जब विपदा पड़ी तो वे जाकर सरकार की गोद में बैठ गए। हम मुसीबत में जरूर हैं लेकिन हास्यबोध इतना कमजोर नहीं हो जाना चाहिए कि ताकतवर को काटी चुटकी पर आप हंस भी न पाएं।