प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चेन्नई में ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स’ की शुरुआत की

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि सरकार 2036 ओलंपिक खेलों की मेजबानी करने, खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय अनुभव प्रदान करने और भारत को वैश्विक खेल पारिस्थितिकी तंत्र का केंद्र बनाने का प्रयास कर रही है।
प्रधानमंत्री मोदी ने यहां ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स’ की शुरुआत की और दावा किया कि पिछली संप्रग सरकार के दौरान खेल से संबंधित भ्रष्टाचार और अनियमितताओं के आरोपों को देखते हुए गत 10 वर्षों में उनकी सरकार ने खेलों में ‘‘खेल’’ को समाप्त कर दिया है।
उन्होंने कहा कि कई लोग आश्चर्यचकित थे कि 2014 के बाद से भारतीय एथलीटों के प्रदर्शन में जबरदस्त सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि भारत ने तोक्यो और पैरालिंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया जबकि एशियाई खेलों और एशियाई पैरा खेलों में इतिहास रचा।
मोदी ने कहा, ‘‘पिछले 10 वर्षों में, सरकार ने सुधार किए, खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया और पूरा खेल परिदृश्य बदल गया।’’
उन्होंने कहा कि खेल प्रतिभा और जुनून में कभी कोई कमी नहीं रही, बल्कि पिछले 10 वर्षों में उन्हें नया आत्मविश्वास मिला है तथा हर कदम पर सरकार का सहयोग मिल रहा है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि तमिलनाडु के कई खिलाड़ी खेलों में ‘‘कमाल’’ कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे यकीन है कि तमिलनाडु की धरती से आप सभी को और अधिक प्रेरणा मिलेगी… आज हम आपके खेलों में आने का इंतजार नहीं कर रहे हैं, हम खेलों को आप तक ले जा रहे हैं।’’
मोदी ने कहा कि ‘खेलो इंडिया’ जैसी पहल गरीब, आदिवासी और निम्न मध्यम वर्ग के परिवारों के युवाओं के सपनों को पूरा कर रही है।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार भारत में 2029 यूथ ओलंपिक और 2036 ओलंपिक खेलों की मेजबानी के लिए प्रयास कर रही है।
प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वे एक साथ मिलकर ‘‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’’ की सच्ची भावना का प्रदर्शन कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि भारतीय खेलों के मद्देनजर 2024 की शुरुआत के लिए ‘यूथ गेम्स’ सर्वश्रेष्ठ तरीका है।
खेलों की शुरुआत के लिए पारंपरिक मशाल प्रज्वलित कर मोदी ने कहा कि अनुमान है कि आने वाले वर्षों में भारतीय खेल उद्योग का आकार लगभग एक लाख करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगा।
उन्होंने कहा, ‘‘तमिलनाडु का आतिथ्य सत्कार आपका दिल जीत लेगा।’’
प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘खेलो इंडिया गेम्स’ निश्चित रूप से खिलाड़ियों को अपने कौशल का प्रदर्शन करने का अवसर प्रदान करेगा।
इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने दूरदर्शन चैनल ‘डीडी पोधिगई’ के नये अवतार ‘डीडी तमिल’ की शुरुआत की।
मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने कहा कि तमिलनाडु को देश की खेल राजधानी बनाना राज्य सरकार का प्रमुख उद्देश्य है।
उन्होंने कहा कि भाईचारे की भावना से, मणिपुर के खिलाड़ियों को हाल में चेन्नई में प्रशिक्षित किया गया और उनमें से कुछ ‘खेलो इंडिया गेम्स’ में भाग ले रहे हैं।