अडानी के टेकओर के बाद प्रणय और राधिका रॉय का इस्तीफा…समझिए NDTV में क्या हो रहा

नई दिल्ली: आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड (RRPRH) से प्रणय रॉय (Prannoy Roy) और राधिका रॉय (Radhika Roy) ने इस्तीफा दे दिया है। एनडीटीवी ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को प्रणय रॉय और राधिका रॉय के इस्तीफे की जानकारी दी है। दोनों का इस्तीफा ऐसे वक्त में आया है जब अडानी ग्रुप न्यू दिल्ली टेलीविजन लिमिटेड (NDTV) के अधिग्रहण के लिए ओपन ऑफर लाया है। RRPRH ने प्रणव रॉय और राधिका रॉय के इस्तीफे को स्वीकार कर लिया है, 29 नवंबर को हुई बैठक में इस्तीफे को स्वीकार किया गया है। अडानी समूह ने समाचार मीडिया कंपनी नई दिल्ली टेलीविजन लिमिटेड (NDTV) के प्रमोटर समूह वाहन आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड में 99.5 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल कर ली है।

कंपनी ने जारी किया बयान
कंपनी की ओर से जो बयान जारी किया गया है उसमे कहा गया है कि RRPRH ने सुदीप्त भट्टाचार्य, संजय पुगलिया, सेंथि सिन्निया चेंगलवरयन को बोर्ड का नया डायरेक्टर तत्काल प्रभाव से नियुक्त किया है। बता दें इससे पहले अगस्त माह में विश्वप्रधान कॉमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड (VCPL) एनडीटीवी की प्रमोटर कंपनी RRPR की 99.5 फीसदी हिस्सेदारी को खरीद लिया था। VCPL एएमजी मीडिया नेटवर्क्स लिमिटेड की सब्सिडरी कंपनी है जिसमे 100 फीसदी हिस्सेदारी अडानी इंटरप्राइजेज लिमिटेड की है।

वीसीपीएल को ट्रांसफर किए शेयर
एनडीटीवी की प्रमोटर कंपनी के मुताबिक, उसने अपनी इक्लिटी पूंजी के 99.5 फीसदी शेयरों को अडानी ग्रुप के स्वामित्ल वाली वीसीपीएल को ट्रांसफर कर दिए हैं। इन शेयरों के ट्रांसफर से अडानी ग्रुप को एनडीटीवी में 29.18 फीसदी हिस्सेदारी मिल जाएगी। वहीं, अडानी ग्रुप ने एनडीटीवी में और 26 फीसदी हिस्सेदारी के लिए मार्केट में ओपन ऑफर लाने का ऐलान किया था। इसके साथ ही अडानी ग्रुप ने 26 फीसदी अतिरिक्त हिस्सेदारी के लिए भी खुली पेशकश की है, जो पांच दिसंबर तक समाप्त हो जाएगा।

अगस्त में अधिग्रहण करने का किया था ऐलान
बता दें कि अडानी ग्रुप ने अगस्त में ही विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड का अधिग्रहण करने का ऐलान किया था। आपको बता दें कि विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड ने ही साल 2009 और 2010 में एनडीटीवी के बिजनेस प्रमोटर आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड को 403.85 करोड़ रुपये उधार के तौर पर दिए थे। इसके बदले में कर्जदाता से किसी भी समय एनडीटीवी में 29.18 प्रतिशत हिस्सेदारी लेने का प्रावधान रखा गया था। अब अडानी ग्रुप कंपनी अतिरिक्त 26 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के लिए खुली पेशकश लाया है।