प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम ने बाबर के काल में दिए गए घाव ठीक करने का काम किया: Amit Shah

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि अयोध्या में नवनिर्मित राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह ने लगभग 500 साल पहले मुगल शासक बाबर के काल के दौरान दिए गए गहरे घाव को मिटा दिया।
उन्होंने यहां रानीप क्षेत्र में नव-पुनर्निर्मित रामजी मंदिर में पुन: प्राण प्रतिष्ठा समारोह में कहा, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा करके उल्लेखनीय कार्य किया। दुनिया भर में भगवान राम के भक्त पिछले 500 वर्षों से इस क्षण का इंतजार कर रहे थे। वे पूछ रहे थे कि भगवान राम को तंबू से एक भव्य मंदिर में कब स्थानांतरित किया जाएगा। इस घटनाक्रम ने अब उस गहरे घाव को मिटा दिया है जो बाबर के युग के दौरान हमारे दिलों में हुआ था।
उन्होंने दावा किया कि 2014 से पहले की सरकारें देश की संस्कृति, धर्म और भाषाओं का सम्मान करने से डरती थीं।
गृह मंत्री ने कहा, औरंगजेब ने काशी विश्वनाथ मंदिर को नष्ट कर दिया था।यह मोदी ही थे जिन्होंने इतने वर्षों के बाद इसका पुनर्निर्माण कराया और वहां एक गलियारा बनाया। बाबर ने अयोध्या में राम मंदिर को नष्ट कर दिया था। अब, वहां एक राम मंदिर बनाया गया है और प्रधानमंत्री मोदी ने जय श्रीराम के उद्घोष के बीच प्राण प्रतिष्ठा की।