22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा, क्या दिसंबर 2024 तक पूरा हो जाएगा राम मंदिर? पूरा प्‍लान जान‍िए

अयोध्या: की प्राण प्रतिष्ठा समारोह का उत्साह देश-दुनिया में छाया है। हर गली-मुहल्ले में राम नाम की गूंज है। भंडारे के आयोजन हो रहे हैं। मंदिरों में अखंड रामायण हो रही है। बच्चे-युवा और बूढ़े हर कोई राम की धुन में खो गया है। सौहार्द का माहौल है। इस बीच श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट एवं मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा ने बड़ी बात कही है। उन्होंने रविवार को कहा कि रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद नए उत्साह और प्रतिबद्धता के साथ काम शुरू होगा, ताकि राम मंदिर को 2024 में ही पूरी तरह से कंप्लीट कर लिया जा सके। कल साढ़े बारह बजे होगी प्राण प्रतिष्ठानृपेंद्र मिश्रा ने कहा कि सोमवार को दोपहर 12:30 बजे श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा होगी। इससे पहले आज का दिन हम सभी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। सभी व्यवस्थाओं को देखना होगा और यह सुनिश्चित करना होगा कि देशवासियों से किए गए वादे को पूरा किया जा सके। नृपेंद्र मिश्रा ने एएनआई से बातचीत में कहा कि 23 जनवरी से नए उत्साह और नई प्रतिबद्धता के साथ का शुरू किया जाएगा, ताकि 2024 में ही राम मंदिर पूरी तरह से बन जाए। सात और मंदिर बनेंगेउन्होंने कहा कि राम मंदिर परिसर में सात और मंदिर बनाए जाने हैं, जो सामाजिक सद्भाव का प्रतीक होंगे। इनका निर्माण कार्य प्राण प्रतिष्ठा के बाद शुरू किया जाएगा। गुरुवार को रामलला की मूर्ति को गर्भगृह में स्थापित कर दिया गया है। पीएम नरेंद्र मोदी सोमवार को प्राण प्रतिष्ठा के अनुष्ठान करेंगे। इस गौरवशाली पल को देखने के लिए देश-दुनिया से लोग अयोध्या पहुंचे हैं।