शाइस्‍ता और गुड्डू मुस्लिम की पहेली हल नहीं कर पाई पुलिस, साल भर पहले हुआ था उमेश पाल का मर्डर

लखनऊ: इस 24 फरवरी को उमेश पाल और दो सिपाहियों की हत्या की वारदात को एक साल पूरा हो जाएगा। लेकिन माफिया अतीक अहमद (Atique Ahmed) की पत्नी शाइस्ता और बमबाज समेत चार मोस्ट वॉन्टेड की पहेली पुलिस और एसटीएफ अभी तक सुलझा नहीं पाए हैं। चार आरोपियों में से तीन आरोपी गुड्डू मुस्लिम, साबिर और अरमान पर पांच-पांच लाख रुपये का इनाम है। वहीं, शाइस्ता पर 50 हजार रुपये का इनाम है।उमेश पाल की सुरक्षा में तैनात दो सिपाहियों को बम मारने वाला अतीक गैंग के शातिर गुड्डू मुस्लिम उस दिन से पहेली बन गया, जब अतीक और अशरफ हत्याकांड से पहले अशरफ ने विडियो बाइट में उसका नाम लिया। लेकिन वह गुड्डू से जुड़ा कुछ बोल पाता, इससे पहले हमलावरों ने उसे ढेर कर दिया। तब से गुड्डू मुस्लिम को लेकर कई चर्चाएं हुईं।इसी तरह अतीक की पत्नी शाइस्ता का नाम भी अहम साजिशकर्ता के रूप में सामने आया। कहा गया कि हमलावरों को पैसा, हथियार, गाड़ियां और नए मोबाइल फोन दिलाने में उसकी अहम भूमिका थी। वह हत्याकांड की साजिश में पूरी तरह से शामिल थी और उससे जुड़ी मीटिंग में शामिल रहती थी। शाइस्ता की तलाश में कई जगह दबिशें दी गईं लेकिन वह पुलिस के हाथ नहीं चढ़ी। इसी तरह अरमान और साबिर को भी पुलिस तलाश नहीं पाई।