PM Modi ने किया Lata Mangeshkar को याद, शेयर किया उनके द्वारा गाया राम भजन

पूरे देश में 22 जनवरी का इंतजार हो रहा है, जब अयोध्या में भव्य राम मंदिर के गर्भग्रह में रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी। इस पल के इंतजार में पूरा देश राममय हो गया है। प्रभु श्रीराम की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को देखते हुए घर घर में जय श्रीराम के नारे लगाए जा रहे है। हर घर में भगवान राम का स्वागत के लिए जोर शोर से तैयारियां की जा रही है। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर किया है, जिसमें उन्होंने स्वर्गीय स्वर कोकिला लता मंगेशकर को याद किया है। 
As the nation awaits 22nd January with great enthusiasm, one of the people who will be missed is our beloved Lata Didi.Here is a Shlok she sung. Her family told me that it was the last Shlok she recorded. #ShriRamBhajanhttps://t.co/MHlliiABVX— Narendra Modi (@narendramodi) January 17, 2024
राम मंदिर के गर्भग्रह में होने जा रही प्राण प्रतिष्ठा से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लता मंगेश्कर को याद किया है। स्वर कोकिला को याद करते हुए उन्होंने एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने लिखा कि पूरा देश उत्साहित होकर 22 जनवरी की प्रतिक्षा कर रहा है। जिन लोगों की कमी खलेगी उनमें हमारी प्यारी दीदी लता मंगेश्कर भी है। उनके द्वारा गाया गया श्लोक यहां शेयर कर रहा हूं। उनके परिवार ने बताया कि ये उनके द्वारा रिकॉर्ड किया गया अंतिम श्लोक था। ये लता मंगेश्कर द्वारा रिकॉर्ड किया गया अंतिम श्लोक है, जो कि श्री रामार्पण है। इस श्लोक को उन्होंने बेहद शिद्दत से गाया है, जिससे हर व्यक्ति मंत्रमुग्ध हो गया है। श्री राम की भक्ति में भाव-विभोर कर देने वाले लता मंगेशकर का श्लोक पीएम मोदी के ट्विट करने के बाद देखते ही देखते वायरल हो गया है। मंदिर में शुरु हुए प्राण प्रतिष्ठा के अनुष्ठानअयोध्या के राम मंदिर में रामलला का प्राण प्रतिष्ठा समारोह मंगलवार को शुरू हो गया। मंदिर न्यास के एक सदस्य और उनकी पत्नी की अगुवाई में इस दौरान कई अनुष्ठान हुये। मंगलवार से शुरू हुए अनुष्ठान नए मंदिर में रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के साथ संपन्न होंगे। राम मंदिर के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास ने कहा, ‘‘अनुष्ठान शुरू हो गया है और 22 जनवरी तक जारी रहेगा। 11 पुजारी सभी ‘देवी-देवताओं’ का आह्वान करते हुए अनुष्ठान कर रहे हैं।’’  इस महीने की 22 तारीख तक चलने वाले अनुष्ठान में यजमान मंदिर न्यास के सदस्य अनिल मिश्रा और उनकी पत्नी उषा मिश्रा हैं। अनिल मिश्रा ने स्वयं इसकी पुष्टि की है। आमतौर पर, यजमान पूजा कार्यक्रम का मुख्य ‘मेजबान’ होता है। यजमान की ओर से ही प्रार्थना की जाती है। मिश्रा को सभी दिन अनुष्ठान में भाग लेना होगा, जिसमें 22 जनवरी का कार्यक्रम भी शामिल है जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होगी।