मैदानकर्मी के साथ पिता के कथित दुर्व्यवहार के बाद पीसीए प्रमुख जांच के घेरे में

सितंबर पंजाब क्रिकेट संघ (पीसीए) के अध्यक्ष गुलजार चहल अपने पिता (पूर्व आईपीएस अधिकारी) द्वारा पीसीए स्टेडियम परिसर के अंदर एक अनुभवी मैदानकर्मी (क्यूरेटर) के साथ कथित रूप से दुर्व्यवहार करने के बाद सवालों के घेरे में आ गए हैं।
  यह घटना करीब दो सप्ताह पहले की है जब गुलजार के पिता सेवानिवृत्त डीजीपी हरिंदर सिंह चहल मोहाली में पीसीए स्टेडियम के परिसर के अंदर शाम की सैर पर थे।
यह अनुभवी क्यूरेटर पीसीए के आजीवन सदस्य है और बीसीसीआई में विभिन्न पदों पर काम कर चुके हैं। इस घटना के बाद उन्हें कुछ दिनों के लिए मैदान में प्रवेश करने से रोक दिया गया था, लेकिन जब पीसीए गलियारों के अंदर इस मामले ने तूल पकड़ी तो उन्हें वापसी की अनुमति दे दी  गई।
पीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘ अध्यक्ष के पिता को सुबह या शाम की सैर के लिए स्टेडियम परिसर का उपयोग करने की अनुमति नहीं दी जा सकती क्योंकि वह संघ के सदस्य नहीं हैं। अनुभवी क्यूरेटर उनके पिता को नहीं पहचानते थे और इसलिए उन्होंने उनसे पूछताछ की। ’’
उन्होंने कहा, ‘‘ क्यूरेटर को जब पता चला कि वह पीसीए अध्यक्ष के पिता है तो उन्होंने माफी मांगी लेकिन उन्हें स्टेडियम के अंदर नहीं आने को कहा गया। अनुभवी क्यूरेटर पीसीए के आजीवन सदस्य है लेकिन किसी पद पर नहीं है।’’
यह समझा जाता है कि अनुभवी क्यूरेटर को अस्थायी रूप से मैदान आने से प्रतिबंधित करने का मामला तूल पकड़ रहा था, जिसके बाद उन्हें स्टेडियम में प्रवेश करने और काम करने की अनुमति दे दी गयी।
पीसीए प्रमुख गुलजार से जब इस मामले में प्रतिक्रिया के लिए किये गये फोन कॉल और टेक्स्ट मैसेज (फोन संदेश) का कोई जवाब नहीं दिया।