पटना सामूहिक दुष्कर्म मामलाः भाजपा ने कार्रवाई के लिए नीतीश सरकार को दिया 24 घंटे का अल्टीमेटम

बिहार में मुख्य विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेमहादलित समुदाय की दो नाबालिग लड़कियों के साथ कथित सामूहिक दुष्कर्म के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर बृहस्पतिवार को नीतीश कुमार सरकार को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया। दोनों पीड़ित लड़कियों में से एक की मौत हो गई है।
भाजपा के बिहार प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने बृहस्पतिवार को पटना के बाहरी इलाके फुलवारीशरीफ इलाके में पीड़ित परिवार से मुलाकात की और आरोपियों के लिए मौत की सजा की मांग की। उन्होंने 24 घंटे के भीतर दोषियों को नहीं पकड़े जाने पर आंदोलन शुरू करने की धमकी दी।
फुलवारीशरीफ इलाके में सोमवार को दो महादलित लड़कियों का कथित तौर पर अपहरण कर उनके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया, जिसमें से एक लड़की मृत जबकि दूसरी गंभीर रूप से जख्मी हालत में मिली थी। पीड़िता को पटना के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया है।
इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से आक्रोशित स्थानीय लोगों ने बुधवार को विरोध स्वरूप राष्ट्रीय राजमार्ग के पटना-आरा खंड को छह घंटे से अधिक समय तक अवरुद्ध रखा था।
स्थानीय लोगों के अनुसार महादलित परिवारों की दोनों लड़कियां सोमवार को जलावन की लकड़ी इकट्ठा करने गई पर देर रात तक अपने घर वापस नहीं लौटीं। मंगलवार की सुबह उनमें से एक बच्ची (आठ) का शव हिंदुनी गांव के एक खेत में मिला था जबकि दूसरी बच्ची उसी स्थान पर बेहोश पड़ी मिली।
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि मृतक की मां के बयान पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।
बिहार में सत्तारूढ़ महागठबंधन में शामिल भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी-लेनिनवादी (भाकपा माले) ने बृहस्पतिवार को एक बयान में कहा कि उसके विधायकों की एक टीम शुक्रवार को घटना स्थल का दौरा करेगी और पीड़ितों के परिवार के सदस्यों और ग्रामीणों से मुलाकात करेगी तथा पटना जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन भी करेगी।
पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मिश्रा ने कहा, ‘‘जांचकर्ता आरोपियों की पहचान के लिए फोरेंसिक साक्ष्य एकत्र कर रहे हैं। हम जल्द ही जांच के दौरान एकत्र किए गए सबूतों को डीएनए जांच के लिए भेजेंगे।’’
उन्होंने बताया कि एम्स में भर्ती पीड़िता की हालत में सुधार आया है। डॉक्टरों की अनुमति के बाद हम जल्द ही पीड़िता का बयान दर्ज करेंगे।