Parliament Diary: फुल मोड में नजर आए PM Modi, विपक्ष को जमकर धोया, 400 पार का नारा भी बुलंद

संसद का बजट सत्र चल रहा है। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर राज्यसभा और लोकसभा में आज चर्चा हुई। वहीं, लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषक पर हुई चर्चा का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवाब दिया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने जबरदस्त तरीके से विपक्ष पर तंज कसा। साथ ही साथ दावा किया कि हम एक बार फिर से सरकार बनाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरे तीसरे कार्यकाल में देश विश्व की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा। साथ-साथ उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह परिवार के अलावा कुछ और नहीं देखते। मोदी ने ‘इंडिया’ गठबंधन का परोक्ष रूप से हवाला देते हुए कहा कि कुछ दिन पहले भानुमति का कुनबा जोड़ा और फिर ‘एकला चलो रे’ करने लगे, ‘अलायंस एलाइनमेंट’ बिगड़ गया। मोदी ने विपक्ष पर कटाक्ष करते हुए कहा कि आप में से बहुत लोग चुनाव लड़ने का हौसला खो चुके हैं, कुछ पिछली बार सीट बदले थे और इस बार भी बदलने के प्रयास में हैं। विपक्ष ने लंबे समय तक सत्ता से बाहर रहने का संकल्प लिया है। लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लाया गया प्रस्ताव प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जवाब के बाद पारित हो गया। इसे भी पढ़ें: ‘भ्रष्टाचार के खिलाफ जारी रहेगी लड़ाई, जिसने देश को लूटा है…, जांच एजेंसियों के दुरुपयोग के आरोप पर बोले PM Modi- मोदी ने किसी का नाम लिये बिना कहा, ‘‘विपक्ष में कई युवा सांसद हैं जिनमें उत्साह और उमंग है लेकिन उनकी छवि से किसी और की छवि न दब जाये, इसलिए उन्हें बोलने नहीं दिया जाता। एक ही उत्पाद को बार बार लांच करने के चक्कर में कांग्रेस की दुकान में ताला लग गया है।’’ प्रधानमंत्री का कहना था कि कांग्रेस विपक्षी दल के रूप में अपना दायित्व निभाने में विफल रही तथा दूसरे विपक्षी दलों को उभरने का मौका नहीं दिया। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘विपक्ष ने जो संकल्प लिया है, उसकी सराहना करता हूं, उनके भाषण से यह संकल्प पक्का हो गया है कि उन्हें लंबे समय तक वहीं रहना है।’’ – उन्होंने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘(मल्लिकार्जुन) खरगे जी एक सदन से दूसरे सदन में चले गए, गुलाम नबी आजाद पार्टी से ही शिफ्ट कर गए…एक ही प्रोडक्ट लॉन्च करने के प्रयास में ‘कांग्रेस की दुकान’को ताला लगने की नौबत आ गई है।’’ प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि उनके तीसरे कार्यकाल में भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। उनका कहना था कि कांग्रेस इस तरह से ‘कैंसल कल्चर’ में फंस गई है कि वह देश की सफलताओं को ही ‘कैंसल’ कर रही है।- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कहा कि भगवान राम न सिर्फ अपने घर लौटे, बल्कि एक ऐसे भव्य मंदिर का निर्माण हुआ जो भारत की महान सांस्कृतिक परंपरा को नयी ऊर्जा देता रहेगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हमारी सरकार के तीसरे कार्यकाल के दिन दूर नहीं हैं। केवल 100-125 दिन बचे हैं। अबकी बार, 400 पार, इस बार हम 400 सीटों का आंकड़ा पार करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनाव में भाजपा को निश्चित तौर पर 370 सीटें मिलेंगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि एनडीए 400 से ज्यादा सीटे जीतेगा। – केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को विपक्ष के इन आरोपों को खारिज कर दिया कि केंद्र सरकार गैर-भाजपा शासित राज्यों के लिए धन रोक रही है। उन्होंने लोकसभा में कहा कि यह एक ‘‘राजनीतिक रूप से प्रेरित विमर्श’ है और इसके पीछे ‘‘निहित स्वार्थ’’ हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा कि कर्ज का बोझ कम करने के लिए सरकार ने कर राजस्व बढ़ाने, सार्वजनिक व्यय प्रभावशीलता बढ़ाने, राजकोषीय घाटे को कम करने की प्रतिबद्धता और उत्पादक दक्षता बढ़ाने जैसे कई कदम उठाए हैं। – जम्मू कश्मीर में स्थानीय निकायों से संबंधित कानून में संशोधन के प्रस्ताव वाला एक विधेयक सोमवार को लोकसभा में पेश किया गया। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की ओर से ‘जम्मू कश्मीर स्थानीय निकाय कानून (संशोधन) विधेयक, 2024’ प्रस्तुत किया।- तेलुगू देसम पार्टी (तेदेपा) के सांसद जयदेव गल्ला ने सोमवार को लोकसभा में कहा कि वह आगामी आम चुनाव नहीं लड़ेंगे क्योंकि उनके लिए नेता और उद्यमी की दोहरी जिम्मेदारी को एकसाथ निभाना मुश्किल हो रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘एक साथ दो नावों की सवारी करना मुश्किल है।’’ – सरकार ने प्रतियोगी परीक्षाओं में गड़बड़ी और अनियमितताओं से सख्ती से निपटने के प्रावधान वाला ‘लोक परीक्षा (अनुचित साधनों का निवारण) विधेयक, 2024’ सोमवार को लोकसभा में पेश किया। विधेयक में परीक्षाओं में अनियमितताओं से संबंधित अपराध के लिए अधिकतम 10 साल तक की जेल और एक करोड़ रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने हाल में इस विधेयक को मंजूरी दी थी। – संसद की एक समिति ने सोमवार को सरकार को सुझाव दिया कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आतंकवादियों एवं आतंकी संगठनों को सूचीबद्ध करने के लिए प्रतिबंध की व्यवस्था को राजनीतिकरण से मुक्त करवाने के लिए निरंतर प्रयास किए जाने चाहिए। साथ ही समिति ने इस बात की ओर ध्यान दिलाया कि भारत अल-कायदा एवं आईएसआईएस जैसे वैश्विक आतंकी संगठनों के लिए लोगों की भर्ती करने का एक लक्ष्य बना हुआ है। – सरकार ने सोमवार को कहा कि केंद्र की प्रसाद योजना के तहत विकास के लिए 27 नए स्थलों की पहचान की गई है। केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी ने लोकसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी देते हुए बताया कि स्वदेश दर्शन 2.0 योजना के तहत विकास के लिए 57 गंतव्यों की पहचान भी की गई है। केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने धार्मिक स्थलों सहित पर्यटन स्थलों पर बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 2014-15 में ‘तीर्थयात्रा कायाकल्प और आध्यात्मिक विरासत संवर्धन अभियान’ (प्रसाद) और स्वदेश दर्शन योजनाएं शुरू कीं। राज्यसभा की कार्यवाही- राज्यसभा में सोमवार को सूचीबद्ध एक प्रश्न को बाद में पूछे जाने को लेकर कुछ सदस्यों ने नाखुशी जताई और समाजवादी पार्टी की नेता जया बच्चन ने कहा कि आसन के अलावा और कोई उन्हें बैठने के लिए कहे तो वह नहीं बैठेंगी। प्रश्नकाल के दौरान सदन में उपसभापति हरिवंश ने आज की सूची में सूचीबद्ध 17वां प्रश्न लिया और उसके बाद उन्होंने 19वां प्रश्न लिया। इसे भी पढ़ें: ‘भगवान राम न सिर्फ अपने घर लौटे’, तीसरे कार्यकाल के लिए PM Modi ने सेट किया टारगेट, बोले- BJP को 370 तो NDA को 400 पार- भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्य हरनाथ सिंह यादव ने सोमवार को उपासना स्थल अधिनियम, 1991 को तत्काल समाप्त करने की मांग करते हुए आरोप लगाया कि यह कानून संविधान के तहत प्रदान किए गए हिंदुओं, सिखों, जैनियों और बौद्धों के धार्मिक अधिकारों का अतिक्रमण करता है। राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान उन्होंने यह भी दावा किया कि कानून देश में सांप्रदायिक सद्भाव को नुकसान पहुंचा रहा है।- सरकार ने सोमवार को बताया कि देश में प्रति व्यक्ति पानी की उपलब्धता आजादी के बाद लगातार कम होती गई है लेकिन भूजल को पुनर्भरण (रिचार्ज) करने के प्रयासों के फलस्वरूप अब भूजल स्तर में वृद्धि होने लगी है। जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने सोमवार को राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान यह जानकारी दी। – सरकार ने सोमवार को बताया कि उड़ान योजना के तहत 529 में से किसी भी मार्ग को रद्द नहीं किया गया है और सभी मार्गों पर परिचालन जारी है। नागरिक विमानन राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह ने राज्यसभा को प्रश्नकाल के दौरान यह जानकारी दी। – सरकार ने सोमवार को कहा कि पेट्रोलियम पदार्थ लाने-ले जाने वाले पोतों पर लाल सागर में हूती तथा अन्य विद्रोहियों के हमलों की पृष्ठभूमि में गहन विचार विमर्श कर समुचित कदम उठाए गए हैं। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने पूरक प्रश्नों के जवाब में राज्यसभा में यह भी बताया कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय, भूराजनीतिक स्थिति और बाजार में स्थिरता है और लाल सागर में ऐसे हमलों की वजह से हालात बिगड़ने की आशंका नहीं है।