लाहौर में कभी भी हो सकती है पाकिस्‍तान के पूर्व पीएम इमरान खान की गिरफ्तारी, हाईकोर्ट के बाहर समर्थकों की भारी भीड़

लाहौर: पाकिस्‍तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के लिए आज का दिन काफी अहम है। उन्‍हें सोमवार को कभी भी गिरफ्तार किया जा सकता है। लाहौर हाई कोर्ट के आदेश के बाद इमरान की गिरफ्तारी होगी। कोर्ट ने उन्‍हें सोमवार को शाम पांच बजे तक हाजिर होने का आदेश दिया था। हाई कोर्ट के मुताबिक यह पूर्व पीएम के लिए आखिरी मौका है। पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के चीफ इमरान की जमानत याचिका पर सुनवाई भी हुई। कोर्ट ने दिया आखिरी मौका लाहौर हाई कोर्ट के जस्टिस तारीक सलीम शेख की तरफ से आदेश दिए गए थे कि इमरान सोमवार को दोपहर दो बजे तक कोर्ट में पेश हों। जब वह दो बजे पेशी पर नहीं आए तो फिर उन्‍हें शाम पांच बजे तक का टाइम दिया गया। 15 फरवरी को इस्‍लामाबाद की एंटी-टेररिज्‍म कोर्ट ने इमरान के हाजिर न होने के बाद उस अनुरोध को खारिज कर दिया था जिसमें उन्‍होंने अंतरिम जमानत की अवधि बढ़ाए जाने की मांग की थी। तोशखाना केस में चुनाव आयोग ने उन्‍हें अयोग्‍य ठहरा दिया था। इमरान इन दिनों लाहौर के जमन पार्क वाले घर में रह रहे हैं। नवंबर में उन पर जब हमला हुआ तो उसके बाद से ही पूर्व पीएम लाहौर में हैं। पाकिस्‍तान के चुनाव आयोग ने उन्‍हें फंडिंग के एक केस में दोषी ठहराया था। मगर यह गिरफ्तारी हिंसा के मामले में होगी। साइन हैं अलग-अलग इमरान ने लाहौर हाईकोर्ट में जमानत की अपील की थी। पहले हुई सुनवाई में जस्टिस शेख की तरफ से इमरान को कोर्ट की अवमानना के सिलसिले में नोटिस भेजने के लिए आगाह किया गया था। हाई कोर्ट की तरफ से कहा गया था कि शपथ पत्र में जो साइन हैं और पावर ऑफ अटार्नी पर जो साइन हैं, उनमें काफी अंतर है। कोर्ट ने उन्‍हें 20 फरवरी को दोपहर दो बजे तक हाजिर होने का आदेश दिया था। कोर्ट ने दिया आदेश कोर्ट ने पंजाब के इन्‍स्‍पेक्‍टर जनरल डॉक्‍टर उस्‍मान अनवर को निर्देश दिया था कि वह पीटीआई चीफ की लीगल टीम से मुलाकात करें। उन्‍हें कहा गया था कि वह इमरान से मुलाकात कर सुरक्षा मामलों पर फैसला लें। सोमवार को आदेश आने से पहले हाई कोर्ट के बाहर भारी पुलिसबल को तैनात किया गया था।