पाकिस्तान हमारा देश नहीं चलाता… गुजरात में क्यों पतला हो रहा रुपया? मेहसाणा में वोटरों के बीच तीखी बहस

मेहसाणा: गुजरात के मेहसाणा को बीजेपी का गढ़ कहा जाता है। पिछले 28 साल से यहां बीजेपी जीतती आ रही है। पूर्व उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल भी इसी सीट से चुनाव लड़ते रहे हैं और जीतते रहे हैं। इस बार बीजेपी ने नितिन पटेल की टिकट काटकर मेहसाणा बीजेपी के जिला अध्यक्ष रहे मुकेश पटेल को प्रत्याशी नाया है। विजय रूपाणी के मुख्यमंत्री पद से हटने के साथ ही नितिन पटेल को भी उपमुख्यमंत्री का पद छोड़ना पड़ा था। 1960 में गुजरात का गठन हुआ था। राज्य बनने के दो साल बाद 1962 को पहली बार यहां चुनाव हुआ। तब से लेकर अब तक 14 विधानसभा चुनाव हो चुके हैं, बीजेपी के पास यह विधानसभा 32 साल तक रही। 2017 में नितिन पटेल की यह कुर्सी 7 हजार वोटों से बची थी। इस बार यहां मुकाबला देखने को मिल रहा है। लोगों में बीजेपी को लेकर नाराजगी भी है हालांकि उनका कहना है कि कुछ भी हो, आएगी बीजेपी ही। यहां पर आम आदमी पार्टी, कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के समर्थक आपस में भिड़ भी गए।

एनबीटी ऑनलाइन की टीम जब मेहसाणा पहुंची तो यहां स्टेशन रोड पर बने मार्केट में लोगों से बात की। यहां मौजूद एक शख्स विपिन भाई ने कहा कि हमारे मेहसाणा में तो भाजप (बीजेपी) का माहौल है। सिर्फ भाजप है। भाजप इसलिए आएगी क्योंकि ओल्ड इज गोल्ड। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का मेहसाणा में कोई जोर नहीं है। नितिन भाई ने अच्छा काम किया है। विश्व में मोदी ने काम किया।

‘सीएम के नाम पर नहीं, मोदी के नाम पर देंगे वोट’
यह पूछे जाने पर कि नितिन पटेल की टिकट कटने से क्या उनमें नाराजगी है? एक वोटर ने कहा कि कोई नाराजगी नहीं है। हम बीजेपी को वोट देंगे। गुजरात में बीजेपी ने विकास किया है। कांग्रेस ने कोई काम नहीं किया है। गुजरात के मुख्यमंत्री का नाम पूछे जाने पर शख्स ने कहा कि हम मुख्यमंत्री के नाम पर वोट नहीं देते हैं। हम मोदी के नाम पर वोट देंगे। मोदी ने काम किया है। विकास ही विकास किया है।

‘प्रजा चाहती है परिवर्तन’
भाजपा समर्थकों के बीच वहां कांग्रेस के एक समर्थक आए। उन्होंने अपना नाम रमेश भाई बताया। रमेश भाई ने कहा कि यहां कांग्रेस, AAP सभी चलते हैं। उन्होंने कहा कि 1100 रुपये की गैस हो गई है। 3000 रुपये में सींग (मूंगफली) के तेल का डिब्बा हो गया है। बेरोजगारी बहुत बढ़ गई है। अब पार्टी कांग्रेस की ही आएगी। सब प्रजा परिवर्तन चाहती है। कांग्रेस ने अच्छा काम किया है। गुजरात को गुजरात बनाने वाली कांग्रेस है। इस पर बीजेपी के समर्थक ने उन्हें टोका और तीखी बहस हो इससे पहले कांग्रेस समर्थक यहां से निकल गए।

‘बीजेपी ने विकास ही विकास किया’
पास खड़े एक युवा ने कहा कि 75 वर्षों से कांग्रेस ने कोई काम नहीं किया। सिर्फ बीजेपी ने किया है। बीजेपी ने काम अच्छा किया है। रोड बनाई है। रास्ता बनाया है। हमें पानी दिया है। बीजेपी ही सत्ता में लौटनी चाहिए और लौटेगी भी।

‘जो पैसे वाले हैं न, वही बीजेपी को वोट देते हैं’
पास खड़े इमरान ने कहा कि कांग्रेस आनी चाहिए। अभी तक कांग्रेस थी तो उसने काम किया था। अब बेरोजगारी बढ़ गई है। गैस का बाटला (गैस सिलिंडर) बढ़ गया है। आम आदमी इसमें कैसे गुजारा करेगा? बीजेपी समर्थक ने टोका तो इमरान ने कहा कि इनके पास पैसे हैं। जो पैसे वाले हैं न वे बीजेपी को वोट देते हैं। ये पप्पू भाई हैं। सामने चाय का स्टैंड चलाते हैं। रोज का 100 रुपये कमाते हैं, 1100 का गैस का बाटला कैसे खरीदेंगे?

‘किसी के पास कोई काम नहीं’
इलियास नाम के युवा ने कहा कि यह बोल रहे हैं मोदी को वोट करेंगे, भाजप ने काम किया। इनसे पूछ लो कितनी आमदनी है इनकी? आज कितने लोग बेरोजगार हैं? इनके पास भी काम नहीं है। मंहगाई बढ़ी है। किसी के पास कोई काम नहीं है इसलिए सब यहां भीड़ जमा किए हैं। सामने देख लो। रोज सुबह सफाई होती है, शाम तक यहां पानी ही पानी और गंदगी ही गंदगी होती है। सामने वाले ने बोला कचरा दुकानदार करता है।

‘गरीब आदमी कहां से खाएगा?’
युवक ने कहा कि मोदी जी ने विकास किया है न तो बताईए न मैं उसका जवाब देने के लिए तैयार हूं। क्या किया मोदी जी ने? गरीब आदमी कहां से खाएगा? आपके पास करोड़ों रुपया है आपने तेल भर लिया, कहां से खाएगा आम आदमी? पेट्रोल डीजल इतना बढ़ गया। 1980 में 9 रुपये लीटर था, आज 100 रुपये लीटर है। तेल का डिब्बा 1100 का आता था आज 3000 रुपये लीटर है। जो गलत है सो गलत है।

‘पाकिस्तान हमारा देश नहीं चलाता’
बीजेपी समर्थक ने कहा कि मोदी जी के आने के बाद अर्थव्यवस्था सुधर रही है। युवक ने सवाल किया, कहां? डॉलर मजबूत हो रहा है फिर गुजरात में रुपया क्यों पतला हो रहा है? बीजेपी समर्थक ने कहा कि मोदी जी ने पाकिस्तान को जवाब दिया। युवा बोला पाकिस्तान हमारा देश नहीं चलाता। हम चलाते हैं, हम यहां के नागरिक हैं। जब केंद्र में कांग्रेस थी, नरेंद्र मोदी कह रहे थे, हमारा रुपया मजबूत होना चाहिए। दो साल में चार गुना तेल का दाम बढ़ गया है। जिससे भी चाहो इंटरव्यू ले लो किसी के पास काम नहीं है।

‘मोदी आपको देने आता है?’
बीजेपी और कांग्रेस समर्थकों के बीच और बहस बढ़ी। युवक ने सामने खड़े बीजेपी समर्थक से पूछा, आपकी सैलरी कितनी है? बीजेपी विपिन भाई ने जवाब दिया, 10,000 सैलरी है। युवक बोला, ये देखो, 10000 में 3000 का तेल आएगा और बाकी? दस हजार में क्या होता है? मोदी आपको देना आता है? 15 लाख आपको मोदी ने दिया? कहा था जब सरकार में आऊंगा, सबको 15 लाख दूंगा।

‘कहां हैं अच्छे दिन?
एक अन्य वोटर ने कहा कि मोदी ने कहा था कि रोजगार दूंगा। कहा था अच्छे दिन आएंगे, अच्छे दिन आएंगे, कहां हैं अच्छे दिन? घर में एक आदमी कमाने वाला है और पांच लोग खाने वाले हैं। मंहगाई कम होनी चाहिए न। हम तो केजरीवाल को देंगे। दिल्ली में देखो कितना अच्छा काम किया है। तीखी बहस बढ़ी तो जिस प्रेस वाले की दुकान के सामने बहस हो रही थी, उसने चिल्लाते हुए कहा कि हमारी दुकान के सामने से हटो और वहां जाकर लड़ो। उसके बाद सब वहां से हटे। हालांकि जो कांग्रेस और आप के समर्थन में थे, उन्होंने कहा कि हमारे अंदर गुस्सा है, नाराजगी है, अपनी बात तो रखनी चाहिए न? बाकी यह बात भी सच है कि जीतेगी बीजेपी ही।