PAK vs ENG: इंग्लैंड ने घर में घुसकर पाकिस्तान को पीटा, करारी हार देकर सीरीज जीती

17 साल तक इंग्लैंड क्रिकेट टीम के आने का इंतजार कर रहे पाकिस्तान को आखिरकार निराशा हाथ लगी. इंग्लैंड की टीम ने पाकिस्तान में अपने कदम रखकर और टी20 सीरीज खेलकर फैंस को खुश होने का मौका जरूर दिया लेकिन जाते-जाते उसने अपने मेजबान को जोर का झटका दिया. सात मैचों की सीरीज के आखिरी मैच में इंग्लैंड ने पाकिस्तान को 67 रन से धोकर मैच के साथ ट्रॉफी पर भी कब्जा किया और पाकिस्तानी फैंस को जीत की खुशी से महरूम कर दिया.
टी20 विश्व कप से पहले इस ऐतिहासिक सीरीज पर सबकी नजरें थीं. कराची के चार और लाहौर के शुरुआती दो मैचों तक ये सीरीज बेहद प्रतिस्पर्धी रही और स्कोर 3-3 से बराबर था. आखिरी मैच हालांकि एंटी-क्लाइमेक्स साबित हुआ, जहां न सिर्फ एकतरफा मुकाबला देखने को मिला, बल्कि कई मैचों की तरह एक बार फिर पाकिस्तानी बैटिंग और फील्डिंग की पोल खुल गई.
मलान-ब्रूक का हमलावर अंदाज
लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में रविवार 2 अक्टूबर को सीरीज के निर्णायक मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी की और टीम के हर बल्लेबाज ने छोटी या बड़ी लेकिन तेज-तर्रार पारियां खेलीं. खास तौर पर पूर्व विश्व नंबर एक बल्लेबाज डेविड मलान (78 नाबाद, 47 गेंद) और युवा बैटर हैरी ब्रूक (46 नाबाद, 29 गेंद) ने पाकिस्तानी गेंदबाजों की जमकर कुटाई की और 61 गेंदों में 108 रनों की नाबाद साझेदारी की.
इंग्लैंड ने 20 ओवरों में 2 विकेट खोकर 209 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया. इंग्लैंड की अच्छी बल्लेबाजी के साथ ही पाकिस्तान की खराब फील्डिंग का भी योगदान रहा. खुद कप्तान बाबर आजम ने दो आसान कैच छोड़े.
नहीं चले बाबर-रिजवान
वहीं, पिछले कई मैचों से पाकिस्तानी टीम शीर्षक्रम में कप्तान बाबर और मोहम्मद रिजवान की पारियों के दम पर ही स्कोर बना रही थी या लक्ष्य हासिल कर पा रही थी. टीम के मिडिल ऑर्डर को या तो कम गेंदें मिलती थीं या फिर अच्छे मौके मिलने पर वह फ्लॉप हो रहा था. इस बार न तो बाबर-रिजवान चले और विश्व कप से पहले पाकिस्तान के कमजोर मिडिल ऑर्डर का एक और उदाहरण देखने को मिल गया.
मिडिल ऑर्डर का एक और फ्लॉप शो
पारी की शुरुआत में 5 रन के अंदर बाबर (4) और रिजवान (1) पवेलियन लौट चुके थे. ऐसे में मिडिल ऑर्डर के पास एक अच्छा प्रदर्शन करने का मौका था, लेकिन शान मसूद (56 रन, 43 गेंद) को छोड़कर कोई भी टिककर या खुलकर नहीं खेल पाया. खुशदिल शाह और इफ्तिखार अहमद टिके जरूर लेकिन हर बार की तरह तेजी से रन नहीं बना सके. बाकी बल्लेबाज तो दहाई तक भी नहीं पहुंच सके.
क्रिस वोक्स, डेविड विली और आदिल रशीद की बेहतरीन गेंदबाजी और कुछ अच्छी कैचिंग के दम पर इंग्लैंड ने पाकिस्तान को 20 ओवरों में 8 विकेट पर सिर्फ 142 रनों तक पहुंचने दिया और 67 रनों के बड़े अंतर से मैच के साथ 4-3 से सीरीज भी जीत ली.