Ayodhya में Ram Mandir बनाने की आज ही के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 32 साल पहले ली थी प्रतिज्ञा

अवधपुरी अयोध्या में भव्य श्री राम मंदिर का निर्माण हो चुका है। राम मंदिर के निर्माण के साथ ही 22 जनवरी को राम लला की प्राण प्रतिष्ठा की तैयारी भी जोर-जोर से की जा रही है। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हिस्सा लेंगे। देश भर के कई साधु संत इस ऐतिहासिक पल का हिस्सा बनने के लिए अयोध्या पहुंचने लगे हैं। इसी बीच रविवार को सोशल मीडिया पर मोदी आर्काइव नाम के एक ट्विटर हैंडल से 32 साल पहले की कुछ तस्वीरें शेयर की गई है। यह तस्वीर 15 जनवरी 1992 की है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी के साथ अयोध्या में राम मंदिर पहुंचे थे। ये वो समय था जब रामलला टेंट में विराजमान थे।
On this exact day, 32 years ago, @narendramodi arrived at the #AyodhyaRamTemple. He was on a Yatra to spread the message of unity from Kanyakumari to Kashmir, the Ekta Yatra.Amidst chants of ‘Jai Shri Ram’, Narendra Modi vowed to return only when the Ram Temple was built.The… pic.twitter.com/nbLxkTFN9V— Modi Archive (@modiarchive) January 14, 2024
 यहां उन्होंने पूजा पाठ भी किया था जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर हुई है। यह फोटो उसे दौरान की है जब कन्याकुमारी से कश्मीर तक एकता का संदेश फैलाने के लिए एकता यात्रा निकाली जा रही थी। इन्हें तस्वीरों को शेयर किए जाने के साथ यह भी दावा किया गया है कि उसे दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह प्रतिज्ञा ली थी कि राम मंदिर बनने पर ही वह यहां वापस लौटेंगे। तस्वीरें शेयर करते हुए यह भी लिखा गया है कि मोदी सरकार की तपस्या का फल मिल गया है। अनगिनत हिंदुओं की साड़ियों की दृढ़ता और विश्वास के बाद भगवान श्री राम को उनकी जन्मभूमि पर एक भव्य मंदिर मिला है।