Ramnavami के मौके पर भगवान श्री राम को Rajnath Singh ने बताया भारत की पहचान

भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भगवान श्री राम भारत की पहचान बताया है। भगवान श्री राम सिर्फ पत्थर या लकड़ी की मूर्ति नहीं है। भगवान श्री राम के जन्मोत्सव यानी राम नवमी के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने ये बात कही है। उन्होंने इस दौरान कहा कि सरकार अस्पताल, स्कूल बनाएगी, उद्योग लगाएगी और मंदिर भी बनाएगी। उन्होंने राम मंदिर को बनाने पर सवाल खड़े करने वालों पर निशाना साधते हुए कहा कि कई लोग थे जो राम मंदिर बनाए जाने के दौरान अपने विचार पेश कर रहे थे। कई लोगों का सुझाव था कि राम लला के जन्म स्थल पर अस्पताल या स्कूल का निर्माण होना चाहिए। कई इस विचार में थे कि इस स्थान पर उद्योग की स्थापना होनी चाहिए। रक्षा मंत्री ने कहा कि ये विचार उन लोगों के ही हो सकते हैं जि भगवान राम को नहीं मानते या उन्हें समझते नहीं है। भगवान राम क आज भी कई लोग सिर्फ पत्थर या लकड़ी मानते है। मगर ये सच्चाई नहीं है। भगवान राम हमारी संस्कृति और आस्था के केंद्र है। हमारी और हमारे देश की पहचान है। उन्होंने कि केंद्र सरकार के प्रयासों से पूर्वोत्तर अब दिल्ली के काफी नजदीक आया है। पूर्वोत्तर में अभूतपूर्व शांति है। शांति के कारण ही पूर्वोत्तर के कई हिस्सों से अफस्पा को भी हटाया गया है।  बेटियां हुई सशक्तउन्होंने केंद्र सरकार के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को लेकर कहा कि आज ये सिर्फ नारा नहीं जन आंदोलन बन चुका है। देश की सेना और सशस्त्र बलों में भी महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है। महिलाएं फाइटर जेट उड़ाने से भी पीछे नहीं है। महिलाओं को सेना व सशस्त्र बलों में शामिल करने से बलों को भी मजबूती मिल रही है।