ओलंपियन केनेथ पॉवेल का निधन, देश के चोटी के फर्राटा धावकों में से एक थे

नयी दिल्ली। ओलंपियन और भारत की 1970 एशियाई खेलों की चार गुणा 100 मीटर रिले में कांस्य पदक विजेता टीम के सदस्य केनेथ पॉवेल का रविवार को बेंगलुरू में निधन हो गया। वह 82 साल के थे। भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) ने यह जानकारी दी।
पॉवेल 1960 के दशक में देश के चोटी के फर्राटा धावकों में से एक थे। उन्होंने 1962 के एशियाई खेलों की टीम में नहीं चुने जाने की निराशा को पीछे छोड़ते हुए 1964 के तोक्यो ओलंपिक में चार गुणा 100 मीटर रिले दौड़ में भारतीय टीम को सेमीफाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई थी।इसे भी पढ़ें: FIFA World Cup : विश्व कप को लेकर कोलकाता में उत्साह चरम पर, 9,000 से ज्यादा फुटबॉल प्रशंसक कतर पहुंचे
पॉवेल इसके बाद बैंकाक एशियाई खेल 1966 में भाग नहीं ले पाए लेकिन उन्होंने 1970 में बैंकाक एशियाई खेलों में भारत को चार गुणा 100 मीटर रिले दौड़ में कांस्य पदक दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी।
एएफआई ने पॉवेल के निधन पर शोक व्यक्त किया जो कि अर्जुन पुरस्कार विजेता भी थे।
एएफआई के अध्यक्ष आदिल सुमारिवाला ने कहा कि पॉवेल के निधन से देश ने एक भद्रजन खो दिया।
उन्होंने कहा,‘‘ केनी पॉवेल जैसे एथलीटों की वजह से ही 1960 के दशक में भारतीय एथलेटिक्स का कद बढ़ा था। पॉवेल ने राष्ट्रीय ओपन चैंपियनशिप और राष्ट्रीय अंतर राज्यीय खेलों में 19 खिताब जीते थे।’’
पॉवेल का जन्म 20 अप्रैल 1940 को कर्नाटक के कोलार में हुआ था। उन्होंने 1957 में राष्ट्रीय स्कूल खेलों में अपना पहला पदक जीता था।