अब खुलेगा राज! 12 दिन बाद गैंगस्टर गाडोली की गर्लफ्रेंड दिव्या पाहुजा की मिली लाश

फतेहाबाद/गुरुग्राम: गैंगस्टर गर्लफ्रेंड और मॉडल दिव्या पाहूजा हत्याकांड मामले में पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। पुलिस ने 12 दिन बाद दिव्या के शव को बरामद कर लिया है। हरियाणा के फतेहाबाद जिले में मिला है। फतेहाबाद के टोहाना के पास से पुलिस ने शव को बरामद किया है। आज सुबह से पटियाला की एनडीआरएफ टीम और गुरुग्राम क्राइम ब्रांच की टीम ने सर्च अभियान चलाया हुआ था।बता दें कि बस स्टैंड परिसर के पास होटल में दिव्या की हत्या 2 जनवरी को उसके साथी व होटल मालिक अभिजीत ने की थी। गोली मारकर हत्या के बाद शव को बीएमडब्ल्यू कार में डालकर यहां से अभिजीत के साथी बलराज और रवि ठिकाने लगाने ले गए। सेक्टर-14 थाना में एफआईआर दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू की। बीएमडब्ल्यू कार तो पटियाला बस स्टैंड परिसर में खड़ी मिली लेकिन वहां से बलराज और रवि कैब पकड़ आगे कहीं निकल गए थे।कोलकाता एयरपोर्ट से पकड़ा गया था बलराजदिव्या के शव को ठिकाने लगाने वाले बलराज को पुलिस ने कोलकाता एयरपोर्ट से पकड़ा था। उसने पुलिस पूछताछ में बताया था कि उन्होंने दिव्या शव नहर में फेंक दिया था। जिसके बाद से क्राइम ब्रांच की दो टीमें दिव्या के शव को ढूंढ रही थी। रविवार सुबह पुलिस ने दिव्या के शव को हरियाणा के फतेहाबाद से बरामद किया है। पुलिस अब दिव्या के शव को पोस्टमार्ट करवाएगी। अभिजीत ने क्यों की थी दिव्या की हत्यापुलिस पूछता में आरोपी अभिजीत ने बताया था दिव्या पाहुजा के पास उसकी कुछ अश्लील तस्वीरें थी। जिन तस्वीरों के कारण दिव्या पाहुजा उसे एक्सटॉरशन के लिए ब्लैकमेल करती थी। वो अभिजीत सिंह से अक्सर पैसे लेती रहती थी। अब वो उससे मोटी रक़म ऐठना चाहती थी। दो जनवरी को अभिजीत सिंह और दिव्या पाहुजा इस होटल में पहुंचे। अभिजीत दिव्या के फोन से अपनी अश्लील फोटो डिलीट कराना चाहता था। लेकिन दिव्या पाहुजा ने उसे अपने फोन का पासवर्ड नहीं बताया। आरोपी अभिजीत ने तैश में आकर दिव्या पाहुजा की गोली मारकर हत्या कर दी।बीएमडब्ल्यू कार में रखा शवदिव्या की हत्या करने के बाद अभिजीतने होटल में साफ-सफाई और रिसेप्शन का काम करने वाले हेमराज व ओम प्रकाश के साथ मिलकर डेड बॉडी को बीएमडब्ल्यू कार में रखवाया। इसके बाद आरोपी अभिजीत ने बलराज और रवि को बुलाया। इन दोनों को उसने दस लाख रुपये दिए। जिसके बाद दोनों ने दिव्या के शव को ठिकाने लगाया