ईशान किशन से हुई अब एक और गलती, BCCI के नियम की उड़ाई धज्जियां, बोर्ड का एक्शन लेना तय!

नई दिल्ली: विकेटकीपर बल्लेबाज ईशान किशन के लिए इन दिनों कुछ भी ठीक होता हुआ नहीं दिख रहा है। पहले वह टीम इंडिया से ड्रॉप हुए। उसके बाद रणजी ट्रॉफी से उन्होंने खुद को अलग कर लिया, जिसके कारण बीसीसीआई के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से उनका पत्ता कटा। इन सबके बाद ईशान से अब एक और बड़ी गलती हो गई है, जिस पर बीसीसीआई एक्शन ले सकता है। रणजी ट्रॉफी से खुद को अलग रखने के बाद ईशान किशन ने डीवाई पाटिल घरेलू टूर्नामेंट में मैदान पर वापसी की है।ईशान किशन की वापसी कुछ खास नहीं रही। ईशान जब मैदान पर बैटिंग के लिए उतरे तो उन्होंने एक-दो आकर्षक शॉट जरूर लगाए, लेकिन जिसने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा वह था उनका हेलमेट। ईशान ने मैच में उस हेलमेट का इस्तेमाल किया जिस पर बीसीसीआई का लोगो लगा था। ईशान की यह लापरवाही अब उन्हें मुश्किल में डाल सकती है। क्या है हेलमेट को लेकर नियमबीसीसीआई ने हेलमेट को लेकर कुछ साल पहले सख्त नियम बनाए हैं। कोई भी खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट के किसी भी मुकाबले में बीसीसीआई के लोगो के साथ लगे हेलमेट और टीम इंडिया की जर्सी का इस्तेमाल नहीं कर सकता है। अगर कोई खिलाड़ी टीम इंडिया के द्वारा मिले हेलमेट को घरेलू टूर्नामेंट में के मुकाबले में पहनता है तो उसे टेप लगाकर लोगो को छुपाना पड़ता है जो कि ईशान ने नहीं किया। ईशान के अलावा तिलक वर्मा ने भी टीम इंडिया से मिले हेलमेट का इस्तेमाल किया, लेकिन उन्होंने लोगो को टेप से छिपा रखा था, लेकिन ईशान किशन ने इसकी अनदेखी की। ऐसे में बोर्ड अब ईशान की इस गलती पर कड़ा फैसला ले सकता है। अंपायर ने भी नहीं दिया ध्यान बता दें कि घरेलू क्रिकेट में यह जिम्मेदारी अंपायर की होती है कि कोई भी खिलाड़ी बीसीसीआई के द्वारा बनाए गए किसी भी तरह के नियम की अनदेखी न करें। हालांकि ईशान के मामले में ऐसा प्रतीत होता है कि अंपायर ने भी उनके हेलमेट पर ध्यान नहीं दिया। क्योंकि अगर कोई खिलाड़ी ऐसा करता है तो अंपायर का काम होता है कि उसे रोके।