चिंता की कोई बात नहीं, टीम इंडिया में सब ऑल इज वैल, हार के बावजूद हेड कोच राहुल द्रविड़ ने ऐसा क्यों कहा?

ब्रिजटाउन: भारतीय क्रिकेट टीम के हेड कोच राहुल द्रविड़ ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में रोहित शर्मा और विराट कोहली को आराम देने के फैसले का बचाव किया है। उन्होंने कहा कि टीम एक मैच या एक सीरीज को लेकर चिंतित नहीं हैं। वर्ल्ड कप से पहले अन्य खिलाड़ियों को आजमाना जरूरी है। द्रविड़ ने मैच के बाद कहा,‘हम हमेशा बड़ी तस्वीर पर गौर करेंगे। हमें आगे एशिया कप और वर्ल्ड कप में भाग लेना है। इसलिए हमें बड़ी तस्वीर पर गौर करना होगा क्योंकि हम कुछ खिलाड़ियों के चोटिल होने की समस्या से जूझ रहे हैं। हम प्रत्येक मैच या प्रत्येक सीरीज को लेकर चिंतित नहीं हो सकते। अगर हम ऐसा करते हैं तो यह गलती होगी।’ जोखिम लेने होंगेवेस्टइंडीज ने भारत के खिलाफ वनडे फॉर्मेट के पिछले नौ मुकाबले गंवाए थे। अब कैरेबियाई टीम को साल 2019 के बाद पहली जीत मिली है। इस मौके पर राहुल द्रविड़ ने कहा कि दूसरे खिलाड़ियों को मौका देने के लिए विराट और रोहित को आराम दिया गया। हमें इस तरह के जोखिम लेने होंगे। बड़ी प्रतियोगिताओं को देखते हुए इस तरह की परिस्थितियों में हम इस तरह के मौके ले सकते हैं। हम उन्हें (युवा खिलाड़ियों को) जितना संभव हो उतने मौके देना चाहते हैं।’तो क्या बुमराह-अय्यर पूरी तरह फिट नहीं?द्रविड़ ने कहा कि कुछ खिलाड़ी चोटिल होने के कारण बेंगलुरु में नेशनल क्रिकेट अकैडमी (एनसीए) में हैं और इसे देखते हुए टीम मैनेजमेंट के लिए एशिया कप (30 अगस्त-17 सितंबर) और वर्ल्ड कप (अक्टूबर-नवंबर) से पहले टीम के अन्य खिलाड़ियों को मौका देना जरूरी है। उन्होंने कहा,‘ईमानदारी से कहूं तो यह हमारे पास अन्य खिलाड़ियों को आजमाने का आखरी मौका है। हमारे कुछ खिलाड़ी चोटिल हैं और अभी एनसीए में हैं। एशिया कप में अब केवल एक महीने का समय बचा है। उम्मीद है कि कुछ चोटिल खिलाड़ी एशिया कप और वर्ल्ड कप तक फिट हो जाएंगे, लेकिन हम किसी तरह का जोखिम नहीं उठा सकते हैं। खिलाड़ियों के चोटिल होने से उनको लेकर अनिश्चितता बनी हुई है। ऐसे में हमारे लिए अन्य खिलाड़ियों को आजमाना जरूरी है ताकि वह किसी भी परिस्थिति के लिए तैयार रहें।’