हार्दिक और पंत नहीं, ये खिलाड़ी होगा टीम इंडिया का अगला कप्तान, पूरे साल अपने खेल से मचाई है धूम

नई दिल्ली: श्रीलंका के खिलाफ तीन टी20 और इतने ही वनडे मैचों की सीरीज का ऐलान किया जा चुका है। टी20 सीरीज में को टीम का कप्तान बनाया गया है जबकि वनडे सीरीज में रोहित शर्मा अगुवाई करेंगे। पिछले एक साल में देखें तो भारतीय टीम में कप्तान बनने का ये सिलसिला म्यूजिकल चेयर की तरह हो गया है। 2021 टी20 विश्व कप के बाद विराट कोहली ने जब कप्तानी छोड़ी तो रोहित शर्मा को तीनों फॉर्मेट में कप्तान नियुक्त किया गया था लेकिन वो शायद ही लगातार तीनों फॉर्मेट में टीम की अगुवाई कर पाए हैं।

पिछले एक साल में रोहित के अलावा केएल राहुल, ऋषभ पंत, शिखर धवन, जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पांड्या को अलग-अलग समय पर कप्तानी के लिए आजमाया गया है। एक समय ऐसा भी रहा जब टीम इंडिया के लिए सौरव गांगुली, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली ने लंबे अर्से तक सफलतापूर्वक टीम की कमान संभाली थी लेकिन अब इसमें पूरी तरह बदलाव आ चुका है और अब जरूरत यह महसूस होने लगी है कि आखिर किस खिलाड़ी को कप्तानी की स्थाई जिम्मेदारी सौंपी जाए।

की दावेदारी है सबसे मजबूत

ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा की उम्र अभी 35 साल हो चुकी है। ऐसे में यह तय है कि रोहित लंबे समय तक यह जिम्मेदारी नहीं निभा पाएंगे। शायद यही कारण है कि टीम इंडिया में अभी से एक मजबूत कप्तान की तलाश शुरू हो चुकी है। पिछले एक साल में कई ऐसे खिलाड़ी रहे जिन्होंने कप्तान के तौर पर आजमाया गया लेकिन कोई भी प्रयोग कारगर सिद्ध नहीं हो सका। ऐसे में पूर्व क्रिकेटर अजय जडेजा जैसे दिग्गजों का मानना है कि श्रेयस अय्यर ऐसे खिलाड़ी हैं जो लंबी रेस का घोड़ा साबित हो सकते हैं।

अय्यर की उम्र अभी 28 साल की है और उसमें कम से कम 8 से 10 क्रिकेट का क्रिकेट बचा हुआ है। ऐसे में अग टीम इंडिया अय्यर पर कप्तानी का भरोसा जताते हैं तो वह बहुत कारगर साबित हो सकता है। पिछले एक साल में अय्यर को टीम इंडिया के लिए जो भी मौका मिला उसमें उन्होंने खुद को साबित कर के दिखाया है।

पिछले एक साल के उनके प्रदर्शन को देखें तो उन्होंने तीन फॉर्मेट को मिलाकर कुल 1709 रन बनाए हैं। अय्यर से अधिक भारत के लिए साल 2022 में और कोई भी बल्लेबाज उनसे अधिक रन नहीं बना सके हैं। ऐसे में कप्तानी के लिए अगर अय्यर की दावेदारी सबसे मजबूत मानी जाए तो वह गलत नहीं होगा।

अय्यर की कप्तानी को लेकर अजय जडेजा ने कहा, चोट के बाद जडेजा ने जब से टीम इंडिया में वापसी है उन्होंने एक नहीं, दो नहीं कई बार खुद को साबित किया है। उनकी एक बड़ी कमजोरी शॉर्ट बॉल थी लेकिन उन्होंने इस पर काम किया और खुद को इससे उबारा है। मेरा मानना है जिस तरह से वह खेल रहे हैं एक या दो साल में वह टीम इंडिया के अगले कप्तान बन सकते हैं।