RJD MLA फतेह बहादुर का नीतीश के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने किया समर्थन, बोले- अब एकलव्य का बेटा अंगूठा दान नहीं देगा

22 जनवरी 2024 को अयोध्या में राम मंदिर के अभिषेक का कार्यक्रम आयोजित किया गया है। जैसे-जैसे राम मंदिर का अभिषेक करीब आ रहा है, विपक्षी दल इस मामले का राजनीतिकरण करता नजर आ रहा है। इस बीच बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने राम मंदिर पर विवादित बयान दिया है। उन्होंने अपने बयान में कहा कि अगर तुम घायल हो जाओगे तो कहाँ जाओगे? मंदिर या अस्पताल? अगर आप शिक्षा चाहते हैं और अधिकारी, विधायक या सांसद बनना चाहते हैं तो क्या आप मंदिर या स्कूल जाएंगे? उन्होंने कहा कि फ़तेह बहादुर सिंह (राजद विधायक) ने वही बात कही जो सावित्रीबाई फुले ने कही थी. यहाँ क्या ग़लत है? उन्होंने सावित्रीबाई फुले का हवाला दिया।  इसे भी पढ़ें: Ram Mandir प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दिन Assam में रहेगा ड्राई डे, हिमंता बोले- हर भारतीय के लिये बहुत महत्वपूर्ण क्षण चंद्रशेखर ने सवाल करते हुए कहा कि क्या शिक्षा आवश्यक नहीं है?…उन्होंने कहा कि हमें छद्म हिंदुत्व और छद्म राष्ट्रवाद से सावधान रहना चाहिए…जब भगवान राम हममें से प्रत्येक में और हर जगह बसते हैं, तो आप उन्हें खोजने के लिए कहां जाएंगे? उन्होंने साफ तौर पर कहा कि साइट्स जो आवंटन किया गया है उसे शोषण का स्थल बना दिया गया है, जिसका उपयोग समाज में कुछ षड्यंत्रकारियों की जेबें भरने के लिए किया जाता है। उन्होंने कहा कि फतेह बहादुर ने अपनी बात नहीं बोली बल्कि उन्होंने तो हमारी माता सावित्री बाई फुले जो देश की पहली महिला शिक्षिका थी, उन्हीं की बात को दोहराया है। शिक्षा मंत्री ने तंज कसते हुए कहा कि षड्यंत्रकारियों ने उनके गले की कीमत लगा दी। लेकिन अब एकलव्य का बेटा अंगूठा दान नहीं देगा, शहीद जगदेव प्रसाद का बेटा अब आहूति नहीं देगा। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि शहीद जगदेव प्रसाद का बेटा आहुति नहीं देगा। षड्यंत्रकारी याद रखें कि बहुजन समाज के लोगों के इतना पसीना से इतना बड़ा समंदर बन जाएगा। विरोधी सात समंदर पार खड़े नजर आएंगे। यह पहला मौका नहीं है जब नीतीश कुमार के शिक्षा मंत्री ने भागवान को लेकर इस तरह का बयान दिया है। वह पहले रामचरितमानस को लेकर भी विवादित बयान दे चुके हैं।   इसे भी पढ़ें: AIUDF प्रमुख बदरुद्दीन अजमल ने मुसलमानों से की खास अपील, 25 जनवरी तक घर से ना निकलने का आग्रह किया, bjp ने किया पलटवारचंद्र शेखर की टिप्पणी पर लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि यह मेरी समझ से परे है कि अपने विभाग के बारे में चिंता करने के बजाय वह सनातन धर्म को गाली देने के बारे में चिंतित क्यों हैं… मुझे आश्चर्य है कि उनकी पार्टी का नेतृत्व और गठबंधन में दोस्त इसे क्यों सहन करते हैं… आप लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचा रहे हैं और भड़का रहे हैं उन्हें. ऐसे बयान देने वाले मंत्रियों को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए… अगर उनका गठबंधन अतीत में चुनाव हारा है, तो यह ऐसे बयानों के कारण है।#WATCH | Bihar Education Minister Chandra Shekhar says, “If you get injured, where will you go? Temple or hospital? If you want education and want to become an officer, MLA, or MP, will you go to a temple or school? Fateh Bahadur Singh (RJD MLA) said the same thing that had been… pic.twitter.com/4Vz3xFDaZc— ANI (@ANI) January 8, 2024