नागल पहली बार आस्ट्रेलियाई ओपन के दूसरे दौर में, 27वें नंबर के खिलाड़ी को हराया

भारत के सुमित नागल ने दुनिया के 27वें नंबर के खिलाड़ी कजाखस्तान के अलेक्जेंडर बुबलिक को सीधे सेटों में हराकर अपने कैरियर में पहली बार आस्ट्रेलियाई ओपन के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया।
डेविस कप खेलने से इनकार के कारण एआईटीए से क्षेत्रीय वाइल्डकार्ड पाने से वंचित रहे 26 वर्ष के नागल क्वालीफायर के रास्ते मुख्य ड्रॉ में पहुंचे हैं। उन्होंने 31वीं वरीयता प्राप्त बुबलिक को दो घंटे 38 मिनट तक चले मैच में 6 . 4, 6 . 2, 7 . 6 से मात दी।
नागल आस्ट्रेलियाई ओपन में पहली बार दूसरे दौर तक पहुंचे हैं। वह 2021 में पहले दौर में लिथुआनिया के रिकार्डास बेरांकिस से 2 . 6, 5 . 7, 3 . 6 से हार गए थे।
विश्व रैंकिंग में 137वें स्थान पर काबिज नागल अपने कैरियर में दूसरी बार किसी ग्रैंडस्लैम का दूसरा दौर खेलेंगे। वह 2020 अमेरिकी ओपन के दूसरे दौर में डोमिनिक थिएम से हारे थे जो बाद में चैम्पियन बने।
नागल की जीत के साथ ही 35 साल में पहली बार किसी भारतीय ने ग्रैंडस्लैम एकल में किसी वरीयता प्राप्त खिलाड़ी को हराया है। आखिरी बार 1989 में रमेश कृष्णन ने मैट विलांडर को मात दी थी जो उस समय दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी और आस्ट्रेलियाई ओपन में मौजूदा चैम्पियन थे।
अब नागल का सामना चीन के जुंचेंग शांग से होगा जो विश्व रैंकिंग में 140वें स्थान पर है। दूसरे दौर में जीतने पर उनकी टक्कर दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी स्पेन के कार्लोस अलकाराज से हो सकती है।
नागल को पहले दौर की जीत के साथ 120000 आस्ट्रेलियाई डॉलर मिलेंगे जबकि क्वालीफाइंग चरण में तीन जीत के 65000 आस्ट्रेलियाई डॉलर के भी वह हकदार बने।
उन्होंने 2023 सत्र के आखिर में पीटीआई से कहा था कि उनकी जेब में बस 900 यूरो बचे हैं लेकिन अब करीब एक करोड़ रूपये ईनामी राशि सुनिश्चित होने पर उनका बोझ कुछ कम होगा।
उन्होंने मोरक्को के खिलाफ डेविस कप मुकाबले के बाद कहा था ,‘‘ अगर मेरा बैंक बैलेंस देखें तो 900 यूरो (80000 रूपये) बचे हैं। मुझे शीर्ष सौ में पहुंचने के लिये करीब एक करोड़ रूपये की फंडिंग चाहिये।’’
उस इंटरव्यू के बाद नागल को काफी प्रायोजक मिले।
मैच में नागल की शुरूआत शानदार रही और पहले ही गेम में उन्होंने बुबलिक की सर्विस तोड़ी लेकिन अपनी सर्विस भी बरकरार नहीं रख सके। उन्होंने फिर बुबलिक की सर्विस तोड़कर पहला सेट 42 मिनट में जीत लिया।
दूसरे सेट में उन्होंने बेहतर प्रदर्शन करते हुए बुबलिक की सर्विस दो बार तोड़ी और अपनी बढ़त बरकरार रखकर 43 मिनट में जीत दर्ज की। तीसरे सेट में दोनों खिलाड़ियों ने सातवें गेम तक अपनी सर्विस टूटने नहीं दी। इसके बाद नागल ने सर्विस तोड़कर 4 . 3 की बढत बनाई और यह 5 . 3 कर दी।यह सेट टाइब्रेकर तक खिंचा जिसमें नागल 7 . 5 से विजयी रहे।
नागल टूर्नामेंट के क्वालीफाइंग फाइनल में स्लोवाकिया के एलेक्स मोलकान को 6 . 4, 6 . 4 से हराकर मुख्य ड्रॉ में पहुंचे थे।
उन्होंने 2019 में अमेरिकी ओपन में रोजर फेडरर के खिलाफ ग्रैंडस्लैम में पदार्पण किया था। उन्होंने फेडरर को एक सेट में हराया भी लेकिन मैच 6 . 4, 1 . 6, 2 . 6, 4 . 6 से हार गए।
अमेरिकी ओपन 2020 के पहले दौर में उन्होंने अमेरिका के ब्राडले क्लान को 6 . 1, 6 . 3, 3 . 6, 6 . 1 से हराया था।