MP: शाजापुर जिला पंचायत कार्यालय में पसरा सन्नाटा, कर्मचारी नदारद, पेंशन विभाग का नहीं खुला ताला

शाजापुर: मध्य प्रदेश के शाजापुर जिले में आज जिला पंचायत अध्यक्ष शरद शिवहरे ने ऑफिस का औचक निरीक्षण किया है. जिसमें पूरे ऑफिस की पोल खुल गई. जहां आधे से ज्यादा कर्मचारी और अधिकारी अपनी ड्यूटी से नदारद मिले. इस दौरान कई विभागों के तो ताले ही नहीं खुले और अधिकारी से लेकर कर्मचारी तक अनुपस्थित थे. जहां जिला कार्यालय के ऐसे हालात देखकर जिला पंचायत अध्यक्ष शरद शिवहरे जमकर नाराजगी जाहिर की है.

दरअसल, शाजापुर जिला पंचायत अध्यक्ष बनने के बाद आज पहली बार शरद शिवहरे एक्शन में दिखे है. इस दौरान उन्होंने जिला कार्यालय पहुंचते ही पूरे कार्यालय का निरीक्षण किया. जहां ज्यादातर कर्मचारी फील्ड विजिट के नाम पर ऑफिस से नदारद थे. ऐसे में हालात ये थे कि कई विभागों के ताले तो खुद जिला पंचायत अध्यक्ष शरद शिवहरे ने खोलें. जहां देखा कि एसडीओ सहित सारे कर्मचारी ऑफिस से नदारद थे.
ऑफिस समय में नदारद रहे सरकारी नुमाइंदे
वहीं, जिला कार्यालय के मनरेगा शाखा में कर्मचारी नदारद थे, तो वहीं, टेक्निकल ब्रांच में भी कोई मौजूद नहीं था. इस दौरान पेंशन विभाग की शाखा में भी ताला लगा हुआ मिला. इसके साथ ही कप्यूटर ऑपरेटर भी अनुपस्थित मिले. जहां प्रधानमंत्री आवास योजना जैसी महत्वपूर्ण शाखा में भी कर्मचारी नदारद रहे तो इधर लेखा ब्रांच पर भी ताला लगा हुआ था. ऐसे में जिला कार्यालय के ये हालत जिले में सरकारी दफ्तरों की तस्वीर को उजागर कर रही है.

ये भी पढ़ें: Madhya Pradesh: 7 दिन से धरने पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, परमानेंट नौकरी- सैलरी बढ़ाने की मांग
जिला पंचायत अध्यक्ष ने कर्मचारियों पर जताई नाराजगी
इन हालातों को देखते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष शरद शिवहरे ने खांसी नाराजगी जाहिर की. इस दौरान उन्होंने जिला कलेक्टर को इस घटना से अवगत कराकर कार्रवाई की बात कही है. हालांकि, अब देखने वाली बात यह है कि क्या सच में यह नदारद और अनुपस्थित अधिकारी कर्मचारियों पर दोषी पाए जाने पर कोई ठोस कार्रवाई होगी. या फिर एक बार इन सब लापरवाही बरतते हुए जिम्मेदार अधिकारी नजरअंदाज कर देंगे.

ये भी पढ़ें: Ujjain: सीहोर की घटना से लिया सबक, पंडित प्रदीप मिश्रा की कथा में इस बार नहीं मिलेगा रुद्राक्ष