MP: पहले पत्नी पर पेट्रोल डाल लगाई आग, फिर हो गया गायब, पेड़ से लटकी मिली हेड कांस्टेबल की लाश

जबलपुर: मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां घरेलू कलह में पत्नी पर पेट्रोल डालकर आग लगाने वाले जबलपुर पुलिस में तैनात हेड कांस्टेबल का शव जंगल में लटका मिला है, मृतक हेड कांस्टेबल की पत्नी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. वहीं शव मिलने के बाद से ही पुलिस मामले की जांच-पड़ताल में जुटी है. फिलहाल, पुलिस आत्महत्या और हत्या दोनों एंगल से जांच कर रही है.

दरअसल, जबलपुर पुलिस विभाग में उस वक्त सनसनी फैल गई. जब पुलिस की विशेष शाखा में तैनात हेड कांस्टेबल सुरेश कुमार चौधरी ने पारिवारिक कलह के चलते पड़ोसी जिले नरसिंहपुर के जंगल मे फांसी लगाकर सुसाइड़ कर ली. पुलिस ने मृतक सुरेश चौधरी का शव नरसिंहपुर जिले के बरहटा गांव से लगे टोन घाट के जंगलों में लटका हुआ मिला है. फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. जहां आज शव का पोस्टमार्टम किया गया.
क्या है मामला?
वहीं,नरसिंहपुर जिले के मुगवानी थाना क्षेत्र के तहत बरहटा गांव में रहने वाले सुरेश कुमार चौधरी (40) जबलपुर में पुलिस के डीएसबी विभाग में तैनात था. मृतक सुरेश चौधरी को हाल ही में कांस्टेबल से प्रमोशन देकर हेड कांस्टेबल बनाया गया था,जिसके बरगी विधानसभा क्षेत्र की जिम्मेदारी सौंपी गई थी, लेकिन मृतक सुरेश चौधरी ने 17 मार्च को अपने घर नरसिंहपुर के बरहटा गावं जाने के लिए 1 दिन की पुलिस विभाग से छुट्टी ली थी.

जहां गांव जाने से पहले मृतक सुरेश चौधरी का किसी बात को लेकर अपनी पत्नी सुमित्रा बाई से झगड़ा हो गया. जिस पर गुस्से में आकर सुरेश चौधरी ने पत्नी सुमित्रा को पेट्रोल डालकर आग के हवाले कर दिया.

ये भी पढ़ें: Madhya Pradesh: 7 दिन से धरने पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, परमानेंट नौकरी- सैलरी बढ़ाने की मांग
शव को PM के लिए नरसिंहपुर जिला मुख्यालय भेजा
उसके बाद नरसिंहपुर के लिए निकल गया. मगर, इसी दौरान सुरेश चौधरी ने घर जाने की बजाए नरसिंहपुर के बरहटा गांव में लगे टोन घाट के जंगल में बरगद के पेड़ से फांसी लगा ली. वहीं, जंगल में शव मिलने की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरू की, जिसमें पुलिस ने पाया कि शव 2 से 3 दिन पुराना बताया जा हा है.

फिलहाल, शिनाख्त में जुटी पुलिस को मृतक के कपड़ो में आई कार्ड मिला है. साथ ही शव से कुछ दूरी पर सुरेश की सरकारी बाइक भी मिली. जिसके बाद पहुंची पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई कर शव पोस्टमार्टम के लिए नरसिंहपुर जिला मुख्यालय भेज दिया है. फिलहाल पुलिस हत्या और आत्महत्या दोनों एंगल से जांच कर रही है.
पत्नी ने मृतक पति को बताया था बेकसूर
हालांकि, मृतक सुरेश चौधरी की पत्नी को जबलपुर मेडिकल अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया है. जहां सुमित्रा की हालत नाजुक बनी हुई है. जांच में जुटी पुलिस का कहना है कि मृतक की पत्नी से अभी पूछताछ नहीं हो सकती है. लेकिन मृतक की पत्नी के पास से एक नोट मिला है, जिसमें उसने अपने पति सुरेश को घटना के लिए बेकसूर बताया है. सुरेश के घर नहीं आने पर पत्नी ने संजीवनी नगर पुलिस थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी.
दोनों जिले की पुलिस पूरे मामले की जांच-पड़ताल में जुटी- CSP
इस मामले में गोरखपुर थाना सीएसपी प्रतिष्ठा राठौर का कहना है कि दोनों जिले की पुलिस पूरे मामले की जांच-पड़ताल में जुट गई है. उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम होने के बाद ही पुलिस परिजनों से पूछताछ करेगी. उसके बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो सकेगा.

ये भी पढ़ें: Ujjain: सीहोर की घटना से लिया सबक, पंडित प्रदीप मिश्रा की कथा में इस बार नहीं मिलेगा रुद्राक्ष