MP Crime News: राजू ने अमरीना खान से की शादी, पहली बार ससुराल गया तो पीट-पीटकर मार डाला

khandwa News: मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. मुस्लिम युवती से शादी करने वाले युवक की उसके परिवार ने पीट-पीटकर हत्या कर दी. हत्या की इस वारदात से खंडवा जिले में हिंदू संगठनों में रोष व्याप्त है. उन्होंने थाने के सामने प्रदर्शन कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. फिलहाल मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है.
दरअसल, मृतक की पहचान जितेंद्र उर्फ राजू सैनी पुत्र मंगल सैनी के रूप में हुई है, जबकि महिला की पहचान मुमताज खान की बेटी अमरीना खातून के रूप में हुई. राजू पर 13 मई को हमला हुआ था और 16 मई को अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी. राजू सैनी टाइल काटने का काम करता था और राजस्थान के सीकर जिले के खंडेल गांव का रहने वाला था, जबकि अमरीना खंडवा जिले की ही रहने वाली थी.
हिंदू जागरण मंच ने थाने के बाहर किया प्रदर्शन
राजू की मौत के बाद हिंदू जागरण मंच के स्वयंसेवकों ने थाने के बाहर विरोध प्रदर्शन किया. इस मामले अब तक पुलिस ने प्राथमिकी में दो नामजद संदिग्धों को गिरफ्तार किया है. कहा जा रहा है कि मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद हत्या के प्रयास की धाराएं जोड़ी जाएंगी.
खंडवा में नमकीन बनाने की दुकान पर करता था काम
2021 में राजू राजस्थान से खंडवा आ गया था और शहर के सिंगोट क्षेत्र में नमकीन बनाने की दुकान पर काम करने लगा था. यहां उसकी मुलाकात अमरीना से हुई और दोनों को एक-दूसरे से प्यार हो गया. दोनों ने मार्च 2021 में एक-दूसरे से शादी कर ली. अमरीना ने एक बेटी को जन्म दिया. गौरतलब है कि अमरीना के राजू के साथ खंडवा छोड़ने के बाद उसके परिवार ने पिपलोद थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. हालांकि, जब पुलिस ने दोनों को ट्रैक किया और उन्हें मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया. वहां पर अमरीना ने कहा कि वह राजू के साथ जाएगी.
घरवालों से मिलने गई तो वापस ही नहीं भेजा
साल 2023 में अमरीना अपने परिवार के सदस्यों, अपनी मां और भाइयों से मिलना चाहती थी. इसी साल अप्रैल में राजू ने उसे मायके में सिंगोट छोड़ दिया. 13 मई को वह जयपुर से अपनी पत्नी और बेटी को लेने वापस आ गया, लेकिन परिवार ने उसे वापस भेज दिया. राजू खंडवा से बाहर नहीं गया और पिछले 25 दिनों से अपने परिवार को वापस लेने के लिए शहर में रह रहा था. जब भी उसने उन्हें ले जाने की कोशिश की, परिवार ने उसकी पिटाई की. उसने पिपलोद पुलिस स्टेशन में शिकायत भी दर्ज की, लेकिन अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की.
पत्नी को लेने गया तो परिवार वालों ने बेरहमी से मारा
13 मई को राजू फिर से अमरीना के घर गया और इस बार उसके परिवार वालों ने उसे बेरहमी से पीटा. राजू का काफी खून बह रहा था, फिर भी वह मदद के लिए थाने गया, लेकिन अपराधियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई. स्थानीय लोगों उसे 13 मई को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई थी और 16 मई को उसकी मौत हो गई.
हिंदू जागरण मंच, खंडवा के जिला प्रमुख अनीश अरझारे ने कहा कि राजू एक निम्न-मध्यम वर्गीय परिवार से है. वह शादी के करीब चार साल बाद ससुराल आया था. फिर भी इन लोगों ने उसे पीट-पीटकर मार डाला. उन्होंने कहा कि राजू सैनी की हत्या की साजिश रचने वाले हमलावरों के खिलाफ पुलिस को कड़ी कार्रवाई करने की जरूरत है. आठ हमलावर थे, जिन्होंने राजू की बेरहमी से पिटाई की.
लव-जिहाद का केंद्र बन गया है खंडवा- हिंदू जागरण मंच
अनीश अरझारे ने कहा कि मध्य प्रदेश का खंडवा जिला लव-जिहाद के मामलों का केंद्र बन गया है और अब इस तरह की खौफनाक घटना सामने आई है. बता दें कि कुछ दिन पहले अनीश अरझरे और उनकी टीम ने एक हिंदू लड़की को लव जिहाद के चंगुल से बचाया था. उन्होंने कहा कि हमने हिंदू युवती ऐश्वर्या, जो आयशा बन गई थी और मोहम्मद इरशाद के साथ शादी कर ली थी. पीड़ित ऐश्वर्या को फंसाने के लिए मोहम्मद इरशाद, शक्ति चौहान बन गया था. इसकी हमने शिकायत की है.