अभी तो मॉनसून बाकी है… जरा सी बारिश में खुली ड्रेनेज सिस्टम की पोल, करोल बाग और शाहदरा में हो गया जलभराव

नई दिल्ली: दिल्ली के कई हिस्सों में शुक्रवार को बारिश होने से लोगों को भीषण गर्मी से कुछ राहत मिली। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी।आईएमडी के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी में अधिकतम तापमान 40.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो मौसम के सामान्य तापमान से दो डिग्री अधिक है। हालांकि, दिल्ली नगर निगम के अधिकारियों के अनुसार हल्की बारिश के साथ 30-40 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से चली तेज हवाओं के कारण कई इलाकों में पेड़ उखड़ने की घटनाएं हुईं। बारिश के कारण कुछ इलाकों में जलभराव होने से यातायात भी प्रभावित हुआ।इन जगहों पर हुआ जलभरावदिल्ली और उसके आसपास के क्षेत्र में शाम के समय कई हिस्सों में हल्की से मध्यम तीव्रता की बारिश हुई। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने सप्ताहांत में दिल्ली में भीषण गर्मी से राहत मिलने का अनुमान जताया है, साथ ही शनिवार और रविवार को आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहने की संभावना है।दिल्ली नगर निगम के अनुसार, शाम छह बजे तक राष्ट्रीय राजधानी के कम से कम 13 इलाकों में जलभराव की सूचना मिली। निगम ने बताया कि तेज हवाओं के कारण उस समय तक नगर निगम के नियंत्रण कक्ष को पेड़ों के उखड़ने की नौ शिकायतें मिली थीं।जिन क्षेत्रों में जलभराव और पेड़ गिरने की घटनाएं सामने आईं उनमें करोल बाग जोन, दक्षिण जोन, शाहदरा उत्तर और दक्षिण जोन तथा नरेला शामिल हैं।न्यूनतम तापमान में भी आई कमी लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के अधिकारियों के अनुसार दो क्षेत्रों – आजादपुर अंडरपास और कश्मीरी गेट से जलभराव की शिकायतें प्राप्त हुईं।उन्होंने बताया कि आजादपुर अंडरपास में जलभराव की समस्या 10 से 15 मिनट में हल हो गई, जबकि कश्मीरी गेट में यह समस्या 30 से 35 मिनट में हल हो गई।इस बीच, दिल्ली में बढ़ते तापमान के कारण राहत उपायों को लागू करने में अधिकारियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी, लेकिन शुक्रवार को इसमें गिरावट आई। मौसम विभाग ने बताया कि शहर में न्यूनतम तापमान 28.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस मौसम के लिए सामान्य है। दिन के दौरान सापेक्षिक आर्द्रता 70 प्रतिशत से 71 प्रतिशत के बीच रही। आईएमडी ने गुरुवार को कहा था कि पश्चिमी विक्षोभ और बंगाल की खाड़ी से आने वाली निचले स्तर की पूर्वी हवाओं के प्रभाव के कारण दिल्ली में लू की स्थिति समाप्त हो गई है।इससे भीषण गर्मी और भीषण जल संकट से जूझ रहे दिल्ली वासियों को राहत मिली है।दिल्ली के लोगों को मौजूदा समय में भीषण गर्मी और गंभीर जल संकट का सामना करना पड़ रहा है।एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, पिछले पांच दिनों में दिल्ली के विभिन्न हिस्सों से वंचित सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि से जुड़े 50 से अधिक लोगों के शव बरामद किए गए। हालांकि, पुलिस ने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि उनकी मौत गर्मी से संबंधित बीमारियों के कारण हुई है या किसी अन्य वजह से।