दूध के धुले नहीं हैं हार्दिक… नो बॉल डालकर भारत को हरा दिया था विश्व कप, अब अर्शदीप को कोस रहे हैं

पुणे: श्रीलंका के खिलाफ पुणे में खेले गए दूसरे टी20 मैच में भारत को 16 रन से करारी हार का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही सीरीज अब 1-1 से बराबर हो चुकी है। श्रीलंका के खिलाफ इस मैच में टीम इंडिया के कप्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया था। पारी का पहला ओवर खुद हार्दिक पांड्या ने किया लेकिन दूसरे ओवर में ने लगातार तीन नो बॉल डालकर श्रीलंकाई बल्लेबाजों को हाथ खोलने का मौका दे दिया। अर्शदीप सिर्फ यहीं नहीं रुके, अपने स्पेल के दूसरे ओवर में भी उन्होंने दो नो बॉल डाल दी।

अर्शदीप की इस गेंदबाजी पर टीम के कप्तान हार्दिक पांड्या काफी निराश नजर आए और मैच के बाद उनके नो बॉल को अपराध करार दे दिया, जिसके बाद अब हार्दिक फैंस के निशाने पर आ गए हैं। मनीष पांडे नाम के एक यूजर ने ट्वीट कर हार्दिक को उस घटना की याद दिलाई जब उन्होंने साल 2016 टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल जैसे मैच में नो बॉल की थी। इसके साथ ही उन्होंने हार्दिक यह सलाह दे डाली की किसी युवा गेंदबाज के लिए सार्वजनिक रूप के उसकी गेंदबाजी की आलोचना करना गलत है।

मनीष पांडे ने ट्वीट कर लिखा, ‘हार्दिक पांड्या और उनकी कप्तानी करने की शैली का फैन हूं लेकिन उन्हें खुद के इतिहास को याद भी याद रखना चाहिए कि उन्होंने किस तरह से ओवरस्टेपिंग किया था जिसका खामियाजा टीम को विश्व कप के सेमीफाइनल में भुगतना पड़ा था।’

बता दें कि टी20 विश्व कप 2016 में भारतीय टीम सेमीफाइनल में सामना वेस्टइंडीज हुआ। इस मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 192 रन का स्कोर खड़ा किया था। लक्ष्य का बचाव करने उतरी टीम इंडिया की तरफ से गेंदबाजी में हार्दिक पांड्या दूसरे सबसे महंगे गेंदबाज साबित हुए थे। उन्होंने अपने चार ओवर के स्पेल में 43 रन दिए थे जिसमें उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला था। इस दौरान उन्होंने एक नो बॉल भी किया था। मैच में लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम 19.4 ओवर में ही 196 रन बनाकर 7 विकेट से मैच को अपने नाम कर लिया।

श्रीलंका ने बनाए थे 206 रन

भारत के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में हार्दिक पांड्या ने टॉस जीतकर पहले श्रीलंका को बल्लेबाजी करने का निमंत्रण दिया था। मैच में टीम के ओपनर बल्लेबाज पाथुम निशंका और कुशाल मेंडिस ने पहले विकेट के लिए 80 रनों की दमदार साझेदारी की। मेंडिस ने दमदार 51 रनों की पारी खेली जबकि निशंका ने 33 रनों का योगदान दिया था।

इसके बाद आखिर के ओवरों में चरिथ असलंका और दासुन शनाका ने भी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। शनाका ने तो सिर्फ 20 गेंद में अपना पचासा पूरा कर लिया जबकि असलंसा ने 37 रनों की पारी खेली। इस तरह श्रीलंकाई टीम निर्धारित 20 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 206 रन का स्कोर खड़ा किया जिसके जवाब में टीम इंडिया 20 ओवर में 8 विकेट पर 190 रन ही बना सकी।