Chhattisgarh में शहीद सीआरपीएफ जवान का मप्र के पैतृक गांव में पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान पवन भदौरिया का अंतिम संस्कार बृहस्पतिवार को मध्य प्रदेश के भिंड जिले में उनके पैतृक गांव कुपावली में पूरे सम्मान के साथ किया गया।
पड़ोसी राज्य के सुकमा जिले में स्थित टेकलगुडेम गांव के पास मंगलवार को नक्सलियों के साथ भीषण मुठभेड़ में सीआरपीएफ के तीन जवान शहीद हो गए। इनमें सीआरपीएफ की विशेष जंगल युद्ध इकाई कोबरा (कमांडो बटालियन फॉर रिजोल्यूट एक्शन) के दो जवान भी शामिल हैं। मुठभेड़ में 15 अन्य जवान घायल हुए हैं।
अधिकारियों ने बताया कि भदौरिया (30) के पार्थिव शरीर को बल की एक टुकड़ी द्वारा कुपावली गांव लाया गया। उन्होंने कहा कि इस मौके पर श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री ओपीएस भदौरिया सहित बड़ी संख्या में लोग एकत्र हुए।
शहीद जवान की चिता को उनके चचेरे भाई विकास सिंह ने मुखाग्नि दी।
अधिकारियों ने बताया कि भदौरिया के परिवार में उनके माता-पिता, पत्नी और तीन साल की बेटी है।