Madhya Pradesh: कमलनाथ पर तंज कसते हुए हिमंता बोले- पूरी दुनिया में किसी के पास ऐसा थका हुआ चेहरा नहीं

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा आज मध्य प्रदेश में हैं। मध्य प्रदेश में इस साल चुनाव होने हैं। हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा है कि मध्य प्रदेश राज्य के कांग्रेस नेता कमल नाथ का ‘थका हुआ चेहरा’ है और पूरी दुनिया में किसी के पास ऐसा ‘थका हुआ चेहरा’ नहीं है।” एमपी के जबलपुर में पत्रकारों से उन्होंने कहा कि अगर सीएम शिवराज सिंह चौहान और कमल नाथ को एक मंच पर खड़ा कर दिया जाए तो कोई भी देख सकता है कि ”कमलनाथ जी कितने थके हुए लग रहे हैं।” उन्होंने दावा किया कि हाल ही में असम दौरे के दौरान एक कांग्रेस नेता ने उनसे पूछा था कि पार्टी बार-बार ऐसे ‘थका हुआ चेहरा’ (कमलनाथ का जिक्र) क्यों मैदान में उतारती रहती है। इसे भी पढ़ें: हिमंत के परिवार ने कृषि भूमि खरीदी और उसे औद्योगिक संपत्ति में तब्दील किया; जांच की जरूरत : गोगोईहिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि मध्य प्रदेश में फिर से भाजपा की सरकार बनने के बाद विकास की और गंगा बहेगी। उन्होंने कहा कि जो देश का माहौल बना है, उसमें गलती से भी कांग्रेस आ गया, तो जो माहौल तमिलनाडु से पैदा हुआ है वह पूरे देश को फंसा लेगा। कई टीवी समाचार एंकरों के बहिष्कार की इंडिया गठबंधन की घोषणा पर, असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि इस बहिष्कार और मीडिया सेंसरशिप का पता 1975 से लगाया जा सकता है। यह नया नहीं है। यह आपके लिए एक पूर्वाभ्यास है। किसी भी कारण से, यदि कांग्रेस सरकार सत्ता में आएगी, मीडिया सेंसर हो जाएगा लेकिन इसरो ने सही समय पर चंद्रयान बनाया है। मैं पूरी कांग्रेस पार्टी को चंद्रमा पर भेजूंगा, वहां सरकार बनाने के लिए…यह बचकानी बात है। इसे भी पढ़ें: CM Himanta: केंद्र से पत्नी के पैसे लेने का सबूत देने पर कोई भी सजा स्वीकार करने के लिए तैयार हूंयह पहली बार नहीं है जब सरमा ने किसी कांग्रेस नेता के लुक का मजाक उड़ाया हो। इस साल की शुरुआत में उन्होंने कर्नाटक चुनाव के दौरान राहुल गांधी का मजाक उड़ाया था। कर्नाटक में एक चुनावी रैली के दौरान उन्होंने कांग्रेस की पांच गारंटी योजना पर कटाक्ष करते हुए कहा, “राहुल गांधी की गारंटी कौन ले सकता है?” कांग्रेस नेता के उत्तर प्रदेश में चुनावी लड़ाई हारने और केरल जाने के बाद असम के सीएम ने कहा, “एक दिन उनका चेहरा सद्दाम हुसैन जैसा हो जाता है और दूसरे दिन अमूल बेबी जैसा हो जाता है।” भाजपा शासित मध्य प्रदेश में विकास के बारे में बात करते हुए, असम के सीएम ने कहा, एमपी में विकास की गंगा बह रही है। उन्होंने कहा कि वह चुनाव के बाद राज्य के लिए और अधिक सफलता की कामना करते हैं। मध्य प्रदेश में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं।