भोपाल में मुस्लिमों के गढ़ में खिला कमल, 22 में से सिर्फ तीन सीटों पर मिली कांग्रेस को जीत, देखें पूरा रिजल्ट

भोपाल: मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय उपचुनाव के परिणाम सामने आ गए हैं। पूरे प्रदेश में 22 वार्डों में खाली सीटों पर उपचुनाव हुए थे। यह चुनाव दलीय आधार पर हुए हैं। 22 सीटों पर हुए उपचुनाव में सिर्फ तीन सीटों पर कांग्रेस को जीत मिली है। वहीं, 16 सीटों पर बीजेपी ने जीत हासिल की है। भोपाल के वार्ड नंबर-41 से बीजेपी प्रत्याशी डॉ रेहान सिद्दीकी को जीत मिली है। रिजल्ट आते ही मोहन सरकार के मंत्री विश्वास सारंग मौके पर पहुंचे और माला पहनाकर उन्हें जीत की बधाई दी है। इसके साथ ही अन्य जिलों में भी खाली सीटों के नतीजे आ गए हैं। इन सभी वार्डों में उपचुनाव के लिए पांच जनवरी को वोटिंग हुई थी। नौ जनवरी को इनके परिणाम आ गए हैं। भोपाल के वार्ड नंबर-41 पर लंबे समय से कांग्रेस का कब्जा था। साथ ही यह मुस्लिम बाहुल आबादी वाला इलाका है। बीजेपी ने यहां से डॉ रेहान सिद्दीकी को उम्मीदवार बनाकार बड़ा दांव चला था। बीजेपी की रणनीति कामयाब रही है। कांग्रेस के किले पर पार्टी ने कब्जा जमा लिया है।जिलानगरपालिकावार्ड नंबरविजयी उम्मीदवारपार्टीमंडलाबम्हनी बंजरवार्ड-5अनिलबीजेपीपन्नाककरहटीवार्ड-13राजेंद्र गौडबीजेपीभोपालभोपालवार्ड-41मो. रेहान सिद्दीकीबीजेपीकटनीकटनीवार्ड-36लवबीजेपीकटनीकटनीवार्ड-9सचिन कुमार बहरेबीजेपीनरसिंहपुरकरैलीवार्ड-5ज्योतिबीजेपीमैहररामनगरवार्ड-2सुनीताबीजेपीरतलामरतलामवार्ड-31करण कैथवासबीजेपीजबलपुरसिहोरावार्ड-6ज्योति सुनील चक्रवर्तीबीजेपीमैहररामनगरवार्ड-11रामसुशीलबीजेपीबैतूलसारणीवार्ड-14बेबी देवीबीजेपीदमोह पटेरावार्ड-14राजरानीबीजेपीधारडहीवार्ड-5नगीना बीबीजेपीधारडहीवार्ड-12फूलकुंवरबीजेपीदेवाससतवासवार्ड-4निहारिक राठौरबीजेपीराजगढ़खुजनेरवार्ड-3निर्मल कुमार जाटवबीजेपीधारमांडववार्ड-9ममता बाईकांग्रेसइंदौरमानपुरवार्ड-2रेखा बाईनिर्दलीयश्योपुरविजयपुरवार्ड-4नीलमनिर्दलीयश्योपुरश्योपुरवार्ड-3अकबरनिर्दलीयशहडोलधनपुरीवार्ड-28गीता कोलकांग्रेसखंडवाखंडवावार्ड-41मो. तारिक खानकांग्रेस गौरतलब है कि एमपी में मोहन यादव की सरकार बनने के बाद पहली बार दलीय आधार पर कोई चुनाव हुआ है। 22 सीटों पर हुए पार्षद उपचुनाव में बीजेपी को बंपर जीत मिली है। यह मोहन यादव की बड़ी सफलता है। साथ ही संकेत है कि एमपी में अभी भी बीजेपी की लहर बरकरार है। तीन महीने बाद ही लोकसभा के चुनाव होने हैं।