महान भारतीय फुटबॉलर बलराम अस्पताल में भर्ती

जकार्ता 1962 एशियाई खेलों में भारत की खिताबी जीत में अहम भूमिका निभाने वाले देश के दिग्गज फुटबॉलरों में से एक तुलसीदास बलराम को मूत्र संक्रमण और पेट की समस्या के कारण यहां एक मल्टी-स्पेशियलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
जकार्ता एशियाई खेलों के फाइनल में भारत ने दक्षिण कोरिया को 2-1 से हराकर दूसरी बार खिताब जीता था और तब से टीम दोबारा इस उपलब्धि को दोहरा नहीं पाई।
बलराम 87 वर्ष के हैं और 1950 तथा1960 के दशक में भारतीय फुटबॉल की सुनहरी पीढ़ी से ताल्लुक रखते हैं जहां उन्होंने चुन्नी गोस्वामी और पीके बनर्जी जैसे दिग्गजों के साथ जोड़ी बनाई।
अस्पताल द्वारा गुरुवार को जारी एक मेडिकल बुलेटिन में कहा गया है कि बलराम को 26 दिसंबर को भूख नहीं लगने, पेट फूलने और मूत्र संक्रमण की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
अस्पताल ने कहा कि भारत के सबसे दिग्गज स्ट्राइकरों में से एक माने जाने वाले बलराम डॉक्टरों की एक टीम की देखरेख में हैं।
पश्चिम बंगाल के खेल मंत्री अरूप बिस्वास ने बीमार पूर्व फुटबॉलर से मुलाकात की और हर संभव मदद का वादा किया।