गुड़गांव सोसायटी परिसर में वकील को कैब ने मारी टक्कर, ड्राइवर के नशे में होने की संभावना, जांच जारी

हरियाणा में एक पूर्व ड्रग कंट्रोलर और पूर्व वकील को उनकी गुरुग्राम के सेक्टर 50 स्थित सोसाइटी में कैब ने टक्कर मार दी। जानकारी के मुताबिक कैब ड्राइवर एक कैब एग्रीगेटर के लिए काम करता है। संभावना है कि घटना के समय कैब ड्राइवर ने नशे की हालत में वकील को टक्कर मारी।पुलिस ने इस संबंध में शुक्रवार को जानकारी दी की सेवानिवृत्त ड्रग कंट्रोलर नरेंद्र कुमार आहूजा वर्तमान में पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट में प्रैक्टिस कर रहे है। उन्हें इस हादसे में मामूली चोटें आई है। उन्हें घटना के बाद गुड़गांव के पार्क अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इलाज के बाद अस्पताल से उन्हें छुट्टी मिल गई है।जानकारी के मुताबिक ऑर्किड पेटल्स सोसायटी के लोगों ने गुरुवार सुबह रामनवमी के अवसर पर भोज का आयोजन किया था। आहूजा अपनी पत्नी अंजू के साथ सभा में शामिल हुए और वापस अपने फ्लैट की ओर जा रहे थे, तभी पीछे से कैब ने उन्हें टक्कर मार दी। कैब से टक्कर लगने के कारण नरेंद्र कुमार बेहोश हो गए। उनके हाथ, पैर और सिर में चोट आई है। वहीं पीड़ित वकील ने आरोप लगाया है कि गाड़ी चलाते समय कैब चालक नशे की हालत में था।पीड़ित वकील का कहना है कि जब कैब ने टक्कर मारी तब मैं सड़क के किनारे बने वॉकिंग ट्रैक पर चल रहा था। बता दें कि इस मामले में पुलिस ने चालक के खिलाफ सेक्टर 50 पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 279 (रैश ड्राइविंग) और 337 (इतनी जल्दबाजी या लापरवाही से किसी भी व्यक्ति को चोट पहुंचाना) के तहत मामला दर्ज किया है।थाने के सहायक उपनिरीक्षक (एएसआई) दलबीर कुमार ने कहा कि पुलिस को गुरुवार को इस घटना के बारे में फोन आया। एएसआई ने कहा, “सुरक्षा गार्डों ने टैक्सी चालक को सोसाइटी के अंदर रोक लिया और पुलिस टीम को सौंप दिया।” आरोपी को बाद में जमानत मिल गई थी। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि चालक की हालत स्थिर नहीं थी। कुमार ने कहा, “यह पता लगाने के लिए मेडिकल परीक्षण किया गया है कि क्या उसने शराब या किसी अन्य दवा का सेवन किया था। रिपोर्ट का इंतजार है।”