बंद कमरे में देर रात फडणवीस और राज ठाकरे की मुलाकात, थम जाएगी BJP-MNS की जुबानी जंग

मुंबई: महाराष्ट्र की सियासत में इन दिनों संग्राम मचा हुआ है। एकनाथ शिंदे- और नेताओं के बीच जमकर जुबानी जंग शुरू है। इसी बीच राज्य के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बीती रात से उनके निवास स्थान शिवतीर्थ पर मुलाकात की। इस मुलाकात को लेकर देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि यह कोई राजनीतिक मुलाकात नहीं थी बल्कि हम सिर्फ गप्पे मारने के लिए मिले थे। हम दोनों काफी दिनों से मिलने की बात कर रहे थे। आखिरकार सोमवार को इसका मुहूर्त निकला। भले ही देवेंद्र फडणवीस इस मुलाकात को गैर राजनीतिक बता रहे हों लेकिन इस मुलाकात को लेकर राज्य में सियासत गर्म हो गयी है। दरअसल बीत कुछ दिनों में, राज ठाकरे ने बीजेपी द्वारा उठाए गए कुछ मुद्दों की आलोचना की थी। राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि कुछ दिनों से राज ठाकरे अलग ही भूमिका निभाते नजर आ रहे हैं। इसलिए इन दोनों नेताओं के बीच किन मुद्दों पर चर्चा हुई। यह जानने के लिए हर कोई उत्सुक है। आगामी बीएमसी चुनाव को लेकर पिछले कुछ दिनों में मनसे और शिंदे- बीजेपी गठबंधन को लेकर भी चर्चा शुरू थी। लेकिन पिछले हुए कुछ दिनों हुए कुछ सियासी घटनाक्रम पर नजर डालें तो राज ठाकरे ने बीजेपी का कई मामलों में विरोध किया है। फिलहाल इस मुलाकात को इस नजरिये से देखा जा रहा है। इस पृष्ठभूमि में फडणवीस और राज ठाकरे के बीच यह मुलाकात महत्वपूर्ण है। जिस तरह से राज ठाकरे और बीजेपी के बीच जुबानी जंग छिड़ी हुई है। आशीष शेलार और राज ठाकरे ने भी एक-दूसरे की आलोचना की थी। माना जा रहा है कि इस आगामी चुनाव में बीजेपी मनसे की मदद ले सकती है।राज ठाकरे ने क्या कहा था? कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद वहां कांग्रेस को सबसे ज्यादा सीटें मिली थीं। बहुमत का आंकड़ा पार हुए कांग्रेस कर्नाटक की सबसे बड़ी पार्टी बनी थी। इस कामयाबी पर प्रतिक्रिया देते हुए राज ठाकरे ने कांग्रेस को बधाई दी थी। राज ठाकरे ने बीजेपी की आलोचना करते हुए कहा था, ‘कर्नाटक का नतीजा और हार उनके लिए महत्वपूर्ण है जो मानते हैं कि कोई हमारा कुछ नहीं बिगाड़ सकता।’आखिर क्या है मुलाकात की असल वजह?दरअसल देश की सबसे अमीर महानगरपालिका बीएमसी का चुनाव आने वाले कुछ महीनों में होने की संभावना है। यह चुनाव बीजेपी और उद्धव ठाकरे गुट के लिए नाक का सवाल होने वाला है। बीजेपी इस चुनाव में उद्धव ठाकरे गुट से सत्ता छीनने की पूरी कोशिश कर रही है। देवेंद्र फडणवीस और अन्य बीजेपी नेताओं ने बीएमसी में बीजेपी का मेयर बनाने का फैसला किया है। उसके लिए पर्दे के पीछे कई महत्वपूर्ण घटनाक्रम हो रहे हैं। राज ठाकरे और फडणवीस की मुलाकात को इसी का हिस्सा माना जा रहा है। बीते कुछ दिनों से राज ठाकरे और बीजेपी के बीच नजदीकियां बढ़ती नजर आ रही थीं। इसके पहले भी बीजेपी के कई दिग्गज नेता राज ठाकरे के आवास पर आए थे। इसलिए चर्चा थी कि मनसे आगामी नगर निगम चुनाव में बीजेपी के साथ गठबंधन करेगी। लेकिन इस बीच राज ठाकरे ने बीजेपी की भी आलोचना की। लिहाजा यह चर्चाएं पूरी तरह से बंद हो गई थीं। हालांकि, फडणवीस और राज ठाकरे की मुलाकात से एक फिर यह अटकलें जिंदा हो गयी हैं।