लाल बहादुर शास्त्री थे सच्चे सन ऑफ सॉयल, सरकार में बैठे लोग स्वाधीनता सेनानियों को लेकर फैला रहे झूठ और भ्रम: खड़गे

 कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने केंद्र पर हमला बोलते हुए कहा राहुल गांधी इनके सपने में भी आते हैं। ये राज्य सभा में माफी की मांग कर रहे हैं जबकि राहुल लोकसभा के सदस्य हैं।कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने गुरुवार को इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रजना डे सरकार द्वारा लिखित सन ऑफ सॉयल पुस्तक का विमोचन किया और इस मौके पर पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को पुष्पांजलि अर्पित की।इस संबंध मल्लिकार्जुन खड़गे ने ट्वीट कर कहा, भूमि सुधार से लेकर दुग्ध और हरित क्रांति की नींव रखने तक, रेलवे में थर्ड क्लास को खत्म करने से लेकर बसों में महिलाओं के लिए सीट का प्रावधान देने तक, 1965 की जंग से लेकर अपने गांधीवादी विचारों से देश सेवा करने तक-हमारे आदर्श, लाल बहादुर शास्त्री जी सच्चे सन ऑफ सॉयल थे।भूमि सुधार से लेकर दुग्ध व हरित क्रांति की नींव रखने तक,रेलवे में थर्ड क्लास को ख़त्म करने से लेकर बसों में महिलाओं के लिए सीट का प्रावधान देने तक,1965 की जंग से लेकर अपने गाँधीवादी विचारों से देश सेवा करने तक -हमारे आदर्श, लाल बहादुर शास्त्री जी सच्चे “Son of the Soil” थे। pic.twitter.com/idh7Bfd9VZ— Mallikarjun Kharge (@kharge) March 23, 2023

वहीं पुस्तक के विमोचन के बाद कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने अपने संबोधन में कहा, मैं महान क्रांतिकारी सरदार भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री पर ‘सन ऑफ सॉयल’ किताब लिखने के लिए मैं लेखक और संपादक को बधाई देता हूं। सुनील जी ने अपने पिता (शास्त्री जी) के निधन के 56 साल बाद उन्हें अनोखी खुली चिट्ठी लिखी है, जो सबको पढ़नी चाहिए।देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी पर ‘Son Of Soil’ किताब लिखने के लिए मैं लेखक और संपादक को बधाई देता हूं।सुनील जी ने अपने पिता (शास्त्री जी) के निधन के 56 साल बाद उन्हें अनोखी खुली चिट्ठी लिखी है, जो सबको पढ़नी चाहिए। : कांग्रेस अध्यक्ष श्री @kharge pic.twitter.com/xqc7cOE1Hu— Congress (@INCIndia) March 23, 2023

उन्होंने कहा, एक बार संसद में नेहरूजी ने शास्त्रीजी की तारीफ करते हुए कहा था कि कोई भी उनसे बेहतर साथी एवं बेहतर सहयोगी की कामना नहीं कर सकता जो कि काफी ईमानदार, वफादार, आदशरें के प्रति समर्पित, विवेकशील और काफी मेहनती हो। शास्त्रीजी सांप्रदायिकता, जातिवाद और छुआछूत के खिलाफ थे। गांधीजी के सच्चे अनुयायी थे। शास्त्रीजी कहते थे कि सांप्रदायिक, प्रांतीय और भाषाई संघर्ष देश को कमजोर बनाते हैं। इसलिए हमें राष्ट्रीय एकता को मजबूत बनाना है।खड़गे ने कहा आज आप लोग अपनी आंखों से देख रहे हैं कि धर्म के नाम पर क्या कुछ चल रहा है। खुद रूलिंग पार्टी के लोग हिंसक और सांप्रदायिक नफरत फैलाने का काम करते हैं। जिस तरह की हेट स्पीच आज हो रही है, उनको बोलने में भी शर्म आती है।कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, आज सरकार में बैठे लोग स्वाधीनता सेनानियों के संबंधों पर झूठ और भ्रम फैलाने का काम करते हैं। सरदार पटेल साहब, नेहरूजी और नेताजी संबंधों पर तो जाने कितनी कहानियां बना कर चलती रहती हैं। जबकि हकीकत ये है कि इन नेताओं में आपस में बहुत अच्छे रिश्ते थे। इसके बहुत से प्रमाण हैं। 1938 में जब नेताजी कांग्रेस अध्यक्ष बने तो प्लानिंग कमेटी बनाई, जिसका अध्यक्ष नेहरूजी को बनाया। आजाद हिंद फौज की रेजीमेंटों का नाम नेताजी ने गांधीजी, नेहरूजी और मौलाना आजाद के नाम पर रखा था।उन्होंने कहा, राहुल गांधी इनके सपने में भी आते हैं। ये मांग करते हैं राहुल गांधी माफी मांगें। राज्य सभा में भी ये मांग उठाते हैं, जबकि वे लोक सभा के सदस्य हैं। सरकारी पक्ष ही संसद नहीं चलने देना चाहता है। ये सब परदा डालने के लिए हो रहा है। नीरव मोदी और ललित मोदी जैसे कई लोग हजारों करोड़ रुपए लेकर देश से भागे हुए हैं। मोदी सरकार उनको आज तक गिरफ्तार नहीं कर पायी है। न दी उन्हें देश में वापस ला पायी है। जब ये बात जब राहुल गांधी उठाते हैं तो उनको सजा दी जाती है।आईएएनएस के इनपुट के साथ