‘कुर्सी कुमार की हिटलरशाही उजागर हुई’, भाजपा बोली- बिहार में लोकतंत्र की जगह ठोक’तंत्र ने ले ली है

बिहार में भाजपा ने जबरदस्त तरीके से नीतीश कुमार और सरकार के खिलाफ हमलावर है। राज्य में शिक्षकों की नियुक्ति और तेजस्वी यादव के इस्तीफे की मांग को लेकर भाजपा ने आज मार्च का आयोजन किया था। यह मार्च गांधी मैदान से विधानसभा की ओर जानी थी। हालांकि, डाकबंगला चौराहे पर ही बवाल जबरदस्त तरीके से मच गया। पुलिस ने खूब लाठियां भांजी। भाजपा का दावा है कि उसके एक कार्यकर्ता की मौत हो गई है जबकि दर्जनों कार्यकर्ता घायल है। रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि पटना में भाजपा प्रदेश कार्यालय में कई घायलों का इलाज भी किया जा रहा है। भाजपा अब नीतीश कुमार पर जबरदस्त तरीके से निशाना साध रही है। भाजपा का दावा है कि बिहार में अब लोकतंत्र नहीं, ठोक’तंत्र हो गया है।  इसे भी पढ़ें: मसाला डोसा के साथ सांभर नहीं देना बिहार के रेस्टोरेंट को पड़ा महंगा, लगा 3500 का जुर्मानाहम डरने वाले नहींप्रदेश भाजपा अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने कहा कि नीतीश बाबू कान खोलकर सुन लीजिए सम्राट न पहले कभी डरा था और नहीं ही कभी डरेगा। उन्होंने जेपी हॉस्पिटल में जाकर पुलिसिया बर्बरता कार्रवाई से घायल भाजपा कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। आरसीपी सिंह ने ट्वीट कर कहा कि कुर्सी कुमार की हिटलरशाही उजागर हुई और लोकतन्त्र का गला सरेआम घोटा गया। आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का जो दमनकारी चरित्र उजागर हुआ, उससे यही प्रतीत होता है कि नीतीश बाबू शान्ति पूर्वक प्रदर्शन,शांति पूर्वक मार्च जैसी लोकतांत्रिक कार्यकलापों में विश्वास नहीं करते हैं। आज की घटना को देखने के बाद कौन कहेगा कि बिहार के मुख्यमंत्री कभी गाँधी,जेपी,लोहिया के आदर्शों में विश्वास रखते थे? आज की इस शर्मनाक घटना की जितनी निंदा की जाय वो कम है! इसे भी पढ़ें: Bihar: पुलिस की लाठीचार्ज में भाजपा नेता की मौत, नीतीश सरकार के खिलाफ चल रहा था प्रदर्शनये नीतीश के इशारे पर हुआसुशील कुमार मोदी ने कहा कि एकदम शांतिपूर्ण प्रदर्शन था, बड़ी संख्या में महिलाएं थीं…कोई तोड़फोड़ नहीं, कोई पथराव नहीं इसके बावजूद जानबूझकर लाठीचार्ज किया गया है। ये सब नीतीश कुमार के इशारे पर हुआ है। इस पर हम सदन के अंदर और बाहर दोनों जगह पर लड़ेंगे। नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता की मौत की जिम्मेदार, बर्बर नीतीश-तेजस्वी सरकार। उन्होंने कहा कि युवाओं, महिलाओं, किसानों के अधिकारों के लिए बिहार की बर्बर नीतीश-तेजस्वी सरकार के खिलाफ संघर्ष करते हुए भाजपा के महामंत्री, जहानाबाद विजय सिंह ने अपनी आहुति दे दी। नीतीश-तेजस्वी सरकार द्वारा बर्बरता पूर्वक चलवाई गयी लाठियों से भाजपा कार्यकर्ता विजय सिंह की मौत की जिम्मेदार नीतीश सरकार को तुरंत इस्तीफ़ा देना चाहिए। तेजस्वी का पलटवारबिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि जितने भी शिक्षक नेता हैं उनसे बात की जाएगी। जो लोग 10 लाख रोज़गार मांग रहे हैं वह बताएं कि देश में ऐसा कौन सा राज्य है जहां 3 लाख से अधिक सरकारी नौकरी का विज्ञापन निकाला गया हो। उन्होंने कहा कि हम अपने शासनकाल में 10 लाख पूरा करे लेंगे, लेकिन वे (भाजपा) 2 करोड़ का हिसाब दें। यहां 18 साल तक सरकार में कौन था? महागठबंधन की सरकार बनने के बाद नौकरी निकाली गई।